बच्चो पर गुस्सा होने से रोकने के लिए 10 टिप्स

बच्चो पर गुस्सा होने से रोकने के लिए 10 टिप्स

आज के दौर में सहनशीलता मानों खत्म होती जा रही है। जिस कारण आजकल के बच्चे बहुत ज्यादा जिद्दी और गुस्सैल स्वभाव के होते जा रहे हैं और फिर बच्चों के साथ-साथ माता-पिता का भी गुस्सा बढ़ता जा रहा है। नतीजा यह निकलता है कि माँ बाप अपने बच्चों को लेकर बहुत परेशान और चिंतित रहते हैं और उन्हें बहुत मानसिक कष्ट भी सहना पड़ता है क्योंकि हर माता-पिता यह चाहते हैं कि उनके बच्चे बहुत समझदार, संस्कारी और आज्ञाकारी बने। परंतु जब बच्चों के साथ माता-पिता भी अगर गुस्सा करने लगते हैं तो हालात बद से बदतर होने लगते हैं। ऐसे में माता-पिता का यह कर्त्तव्य बनता है कि उस समय थोड़ा संयम रखें और अपने बच्चों के साथ प्यार से पेश आए। साथ ही उन्हें समझाएं कि गुस्सा इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन होता है। तो आइए जानते हैं बच्चे पर गुस्सा होने से रोकने के लिए 10 टिप्स (10 Tips of Anger management for Parents )।

बच्चों पर गुस्सा होने से रोकने के लिए 10 टिप्स (Top Ten Anger management Tips for Parents in Hindi)

बच्चों में गुस्सा होने के कई कारण हो सकते हैं। परंतु माता-पिता का कर्तव्य बनता है कि वह बड़े होने के नाते उन पर गुस्सा होने की बजाय स्थिति को समझे। यहां पर हम आपको बच्चों के गुस्से को कम करने और अपने गुस्से को नियंत्रण में रखने के कुछ असरदार उपाय बताने जा रहे हैं जो निम्न है:

#1. अपने आप को शांत रखे (Keep calm)

माता-पिता को कभी भी जल्दबाजी में अपना संयम नहीं खोना चाहिए। इसलिए जब भी बच्चे गुस्सा करते हैं तो आप भी बदले में गुस्सा ना करें और अपने आप को शांत रखने की पूरी-पूरी कोशिश करें क्योंकि आप भी दिन भर की थकान के बाद पूरी तरह से थके होने के कारण बच्चों की छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा होने लगते हैं और बच्चों का क्या है वह तो जो देखते हैं वही सीखते हैं। इसलिए खुद शांत रहकर आप बच्चों को भी सहनशीलता सिखाएं। Read: बच्चों के गुस्से से निपटने के 10 आसान उपाय

#2. आप बच्चों से मारपीट करने से बचे (Don’t Beat Kids)

जब भी बच्चे से कोई गलती हो जाती है तो आप बच्चों के साथ मारपीट ना करें और ना ही गाली-गलौज करें। अगर आप अपने बच्चों को सुधारने के लिए हिंसक रूप अपनाते हैं तो आप पाएंगे कि बच्चा सुधरने की बजाय और ज्यादा बिगड़ जाएगा और उसे ज्यादा गुस्सा आएगा। इसलिए बच्चों के साथ ऐसा आक्रामक व्यवहार करने से बचे और उनसे प्यार से बात करें।

#3. अपने बच्चे को अच्छा व्यवहार करना सिखाए (Teach Your Kid to Behave Good)

आप अपने बच्चों के रोल मॉडल होते हैं। इसलिए आप अपने से बड़ों के साथ और अपनों से छोटों के साथ जैसा व्यवहार करेंगे बच्चे वैसा ही सीखेंगे। इसलिए आप बच्चों में छोटी-छोटी गलतियां निकालने की बजाय उन्हें अच्छा व्यवहार करना सिखाएं और उन्हें यह भी सिखाए कि आपको किन परिस्थितियों में कैसा व्यवहार करना है। आप उन्हें बड़ों का आदर करना और छोटे से स्नेह करना और हमउम्र से दोस्ती करना सिखाए।

#4. बच्चों के गुस्से का कारण जाने (Find Reason of Your Kid’s Anger)

इस विषय में सबसे पहले और सबसे अहम बात यह है कि आप गुस्सा करने की बजाय यह जानने की कोशिश करें कि आपका बच्चा किस कारण गुस्सा हो रहा है। अगर आप सही वजह जानते होंगे तो आप उस समय बिगड़ती स्थिति को संभाल पाएंगे और आपको यह भी समझ आ जाएगा कि उस स्थिति में आपको अपने बच्चों के साथ कैसा व्यवहार करना है।

#5. गुस्सा आने पर बच्चों का ध्यान बांटे (Distract your kid)

जब भी आपका बच्चा ज्यादा गुस्सा करता है तो आप उसे कहीं बाहर घुमाने लेकर जाए क्योंकि माहौल बदलने पर उसका गुस्सा अपने आप शांत हो जाएगा या फिर आप उसे कोई खिलौना वगैरह भी दे सकते हैं। उसका ध्यान बांटने पर ना आपके बच्चे को गुस्सा आएगा और ना ही आपको आपके बच्चे पर गुस्सा आएगा। Read: ज्यादा चिड़चिड़े बच्चों को संभालने के 10 टिप्स

#6. भूख गुस्से का कारण (Hunger is cause of anger)

कई बार बच्चे भूखे होने के कारण भी गुस्सा करते हैं और आप हैं कि बिना उसको समझे-जाने उसी पर गुस्सा करने लगते हैं। ऐसे हालात में आप अपने बच्चों को उनका मनपसंद कोई स्नेक्स या फिर कोई उसकी मनपसंद चीज बनाकर दे सकते हैं। आप बच्चों के लिए झटपट और पौष्टिक आहार जैसे कलरफुल सलाद, पीनट बटर क्रैकर्स, पैन केक आदि बनाकर खिला सकते हैं। कहते हैं ना कि पेट शांत तो मन शांत।

#7. अपने बच्चे को अनदेखा ना करें (Don’t ignore your kid)

ये तो सभी जानते हैं कि कोई जब किसी को अनदेखा करता है तो किसी को भी अच्छा नहीं लगता हैं। इसलिए आप कभी भी अपने बच्चों को अनदेखा ना करें क्योंकि कई बार बच्चे अपने माता-पिता का आकर्षण पाने के लिए भी तरह-तरह की हरकतें करता है। इसलिए उनकी हरकतों पर गुस्सा होने की बजाए अपने बच्चों पर ध्यान दें। उन्हें पूरा समय दें और उन्हें यह समझाएं कि उनकी जिंदगी में आप की क्या अहमियत है। बच्चे माँ बाप के लिए ईश्वर की दी हुई एक सौगात होती है।

#8. बच्चों को भरपूर प्यार दे

कई बार बच्चे बेवजह ही बहुत ज्यादा गुस्से होते हैं तो उस समय अगर माँ अपना थोड़ा सा प्यार अपने बच्चों पर छिड़क दें तो बच्चे अपने आप ही पिघल जाते है। ऐसे में आप अपने बच्चे को खूब प्यार दे, उसे प्यार से गले लगाकर और उसके गालों पर भी प्यार करें। इससे बच्चे भावुकता का पाठ सीखते हैं और रोना व गुस्सा करना बंद कर देते हैं। Read: यह 10 बातें बच्चों को आज से ही सिखाना शुरु करें

#9. बच्चे को गुस्से पर काबू करना सिखाएं (Teach your kid to Control Anger)

बच्चों के पहले गुरु उसके अपने माँ बाप होते हैं। इसलिए बच्चे भी वही करते हैं जो आप करते हैं। इसलिए आपका कर्त्तव्य है कि आप कभी भी गुस्से को अपने ऊपर हावी ना होने दें। अगर आप बच्चे से नाराज भी हैं तो आप नाराजगी जाहिर करने का सही तरीका भी अपनाएं व समझदारी से काम लें। इस प्रकार आपका बच्चा आपको दे खकर गुस्से पर काबू पाना सीख जाएगा।

#10. बच्चों का दिल ना तोड़ो (Don’t break your kid’s heart)

अक्सर ज्यादातर बच्चे जिद्दी होते हैं और वे अपनी जिद्द के कारण भी गुस्सा करने लगते हैं क्योंकि वे आप पर अपना हक समझते हैं। ऐसे में आप का काम है कि आप यह तय करे कि सही क्या है और गलत क्या है। अगर उसकी जिद्द सही है तो आप उसका दिल ना तोड़ो और अगर गलत है तो भी आप उसका दिल ना तोड़ कर बड़े ही प्यार से समझाएं। कहते हैं प्यार में बहुत ताकत होती हैं। क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null