गर्भावस्था में साबूदाना खाने के 7 मुख्य फायदें

गर्भावस्था में साबूदाना खाने के 7 मुख्य फायदें

साबूदाने का प्रयोग अक्सर व्रत में खाने के लिए किया जाता है। यह दिखने में बिल्कुल सफेद मोतियों की तरह होता है। आप इसे खिचड़ी या फिर खीर के रूप में भी खा सकती हैं। यह खाने में जितना हल्का व स्वादिष्ट होता है, उतना ही स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है। इसे अंग्रेजी में सागो (Sago or Tapioca) कहते हैं।

यह हमारे शरीर में गर्मी दूर करके, उसे हटाने का काम करता है और उसके अलावा यह हमारे रक्त संचार को भी नियंत्रण में रखता है। साबूदाना खाने से पेट की परेशानी, गर्मी पर नियंत्रण और थकान दूर होती है। इसे गर्भावस्था के दौरान खाने से गर्भ में भी शिशु को लाभ हो जाता है। तो आइए जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान साबूदाना खाने के फायदे (Pregnancy Mein Sabudana Khane ke Fayde)।

 

गर्भावस्था के दौरान साबूदाना खाने के फायदे (Benefits of Eating Sabudana during Pregnancy in Hindi)

 

#1. भरपूर ऊर्जा का स्रोत

साबूदाने को ऊर्जा का खजाना माना जाता है। इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट की मात्रा आपके शरीर में ऊर्जा प्रदान करती है। गर्भावस्था में ऐसा अक्सर होता है कि महिलाओं को ऊर्जा की अत्यधिक कमी महसूस होती है। ऐसे में अगर आप साबूदाने का सेवन करती है तो आपको भरपूर ऊर्जा प्रदान होगी और इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा। इसका सेवन करने से आपकी थकान भी दूर होगी।

इसे भी पढ़ेंः साबूदाना खिचड़ी बनाने की रेसिपी

 

#2. पेट की परेशानी

साबूदाना खाने में हल्का होने की वजह से यह पचने में आसान होता है और इसके सेवन से पेट से संबंधित समस्याओं से आराम मिलता है। अगर आप अम्लता की समस्या से परेशान है तो साबूदाने के सेवन से आपको काफी आराम मिल सकता है। इसके सेवन से पेट की पाचन शक्ति ठीक रहेगी और आपको गैस और अपच जैसी परेशानियों से राहत मिलेगी।

 

#3. वजन बढ़ाने में सहायक

100 ग्राम सूखे साबूदाने में 355 कैलोरी ऊर्जा होती है, साथ ही इसमें 94 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है जिससे यह वजन बढ़ाने में सहायक होता है। अगर किसी गर्भवती महिला का वजन जरूरत से कम है तो उसे साबूदाने का सेवन करना चाहिए ताकि बच्चे के जन्म के समय तक वह जरूरी वजन बढ़ा सके।

 

#4. रक्त संचार को नियंत्रण में रखना

साबूदाने में पोटेशियम की भरपूर मात्रा होने के कारण यह खून के संसार को ठीक रखने में मदद करता है जिसकी वजह से उच्च रक्तचाप की समस्या से आपको राहत मिलती है। इससे आपके दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी कम हो जाती है।

इसे भी पढ़ेंः गर्भावस्था के समय खाने वाले आहार

 

#5. गर्मी पर नियंत्रण

व्रत के दिनों में अक्सर शरीर में गर्मी बढ़ जाती है। ऐसे में अगर आप साबूदाने की खिचड़ी बनाकर उसका सेवन करती हैं तो इससे आपके शरीर की गर्मी दूर होगी और आपका शरीर भी तरोताजा महसूस करेगा।

 

#6. हड्डियों को मजबूत बनाना

गर्भावस्था में महिलाओं को पूर्ण रूप से स्वस्थ होना जरूरी है। साबूदाने में सही मात्रा में कैल्शियम, आयरन और विटामिन के की अच्छी मात्रा होने के कारण यह हड्डियों को मजबूत करने का काम करता है।

 

#7. शिशु के जन्म के समय भ्रूण विकृति से बचाना

गर्भावस्था के दौरान साबूदाना खाने से गर्भ में पल रहे शिशु को काफी लाभ मिलता है क्योंकि इसमें फोलिक एसिड और विटामिन बी होता है जो कि गर्भ में पल रहे भ्रूण का पूरी तरह विकास करता है। यह जन्म के समय शिशु के अंदर होने वाली कमी को भी दूर करता है।

 

इसलिए अगर आप गर्भवती है तो आपको साबूदाने (Sago During Pregnancy) का सेवन अवश्य करना चाहिए क्योंकि यह शिशु को स्वस्थ रखने में मदद करता है और इससे आपको और आपके शिशु को ऊर्जा भी मिलती हैं।

इसे भी पढ़ेंः रागी से बनने वाली रेसिपीज

 

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से अपनी समस्याओं व अनुभवों को बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माओं के सबसे बड़े ऑनलाइन कॉम्यूनिटी से अभी जुड़ें और पाएं लाखों माओं की राय। आप यहां अपने अनुभव भी शेयर कर सकती हैं। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null

null