5 मुश्किले: जिनका सामना हर महिला प्रेगनेंसी के दौरान करती हैं

5 मुश्किले: जिनका सामना हर महिला प्रेगनेंसी के दौरान करती हैं

गर्भावस्था महिला के जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता हैं। वो एक नए जीवन को इस दुनिया में लाती हैं। ये सिर्फ गर्भवती महिला के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं होता बल्कि पूरे परिवार के लिए बहुत खास पल होता हैं और वे सब नए मेहमान के आने का इंतज़ार करने लगते हैं। ये सब उत्साह और खुशी के अलावा गर्भवती महिला को बहुत सारी परेशानी भी झेलनी पड़ती हैं जैसे कि हॉरमोन का बदलाव, सिर दर्द, नींद न आना, ज्यादा थकावट महसूस होना और भी बहत कुछ। इन सब परेशानियों का होना बहुत ही आम बात हैं लेकिन जब भी आपको गर्भावस्था के दौरान कोई भी परेशानी होती हैं, चाहे वह छोटी हो या बड़ी आपको हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। इन सब के अलावा आज हम कुछ ऐसी मुश्किलों के बारें में जानेगे जिनका हर महिला अपनी गर्भावस्था के दौरान सामना करती हैं।

ग्रभावस्था की पांच मुख्य परेशानियां (Problems every Women Faced in Pregnancy in Hindi)

#1. कब्ज और गैस का होना

5 मुश्किले: जिनका सामना हर महिला प्रेगनेंसी के दौरान करती हैं चित्र स्रोत: MomTricks गर्भावस्था के दौरान आपके शरीर में कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं। अक्सर देखा गया हैं कि कई महिलाओ को कब्जियत और गैस की परेशानी होती है या फिर उन्हे मल त्यागने में परेशानी होने लगती हैं। कब्ज और गैस से बचने के लिए गर्भवती महिला को पानी भरपूर मात्रा में पीना चाहिए जैसे कि आपको हर दिन कम से कम आठ से दस गिलास पानी पीने से आपको कब्जियत की परेशानी कम होंगी। गर्भवती महिला को अपने भोजन में अधिक तरल पदार्थ जैसे ताजा रस, मिल्क शेक, नारियल के पानी को शामिल करना चाहिए जिससे कब्ज और गैस की परेशानी में राहत मिलती हैं। कभी-कभी आयरन की गोली खाने से भी परेशानी होती है इसलिए अच्छा होगा आप इस बारें में अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।

#2. तनाव और अजीब सपने

गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिला को बहुत से सपने आते है जैसे कि अजीब, डरावने या फिर बच्चे से संबन्धित सपने जो की बहुत ही आम बात है। ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि सपने बहुत ही अजीब होंगे और आपको यह समझाना मुश्किल होगा कि ऐसे सपने क्यो आते हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप गर्भवती होती हैं, खासकर यदि आप पहली बार गर्भवती हैं, तो इस दौरान बहुत सारी चिंता और भ्रम पैदा होता है। जिससे आपको लगातार चिंता होने लगती है। आप एक मां के रूप में कैसे अपनी ज़िम्मेदारी पूरी करेंगी या आप और आपके बच्चे दोनों सुरक्षित हैं की नहीं और भी ऐसी कई चीजें हैं। अनिश्चितता, चिंता और आपके भीतर होने वाले सभी हार्मोनल और अन्य परिवर्तन से आपको तनाव और अजीब सपने आ सकते हैं। इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान बालों के टूटने के कारण व उपाय

#3. जल्द ही थकावट महसूस करना

गर्भावस्था के दौरान कई महिलाओ को अपने पहले 12 सप्ताह के दौरान बहुत थकावट महसूस होने लगती हैं क्योंकि इस समय गर्भवती महिला के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल परिवर्तन होते है जिससे अगर वो पूरे दिन भी आराम करे तो उन्हे थकावट महसूस होती ही हैं। कभी-कभी गर्भावस्था के दौरान बहुत सी महिला को तीसरे महीने के लगभग ही थकावट महसूस होने लगती हैं। इसलिए जब भी महिला थकावट महसूस करती हैं तो उन्हे और आराम करने की जरूरत हैं। बहुत ज्यादा चलने या उन चीजों को करने से बचें जो आपको थका सकते हैं।

#4. नींद कम आना और सिरदर्द

5 मुश्किले: जिनका सामना हर महिला प्रेगनेंसी के दौरान करती हैं चित्र स्रोत: babypedia गर्भावस्था के पहले कुछ हफ्तों में गर्भवती महिला को हल्के सिरदर्द होने और कम नींद का आना महसूस हो सकता हैं। ये सामान्य बात है क्योंकि गर्भवती होने पर सिरदर्द और नींद का मुख्य कारण यह है कि महिला के शरीर में हार्मोन का काफी परिवर्तन होता हैं। इसके लिए योग और आराम करें, जिससे आपको अच्छी नींद आएगी। इसके अलावा सिरदर्द को कम करने के लिए आप कम से कम आठ से दस गिलास पानी पिये और अपने खानपान पर भी विशेष ध्यान दे। गर्भावस्था के दौरान महिला का पेट काफी बढ़ जाता हैं जिससे उन्हे सोने में परेशानी होने लगती हैं। इसके लिए आप अपने सोने के तरीके को बदले जैसे कि तकिये का सहारा लेकर सोये और देखे की आपको किस मे ज्यादा आराम मिल रहा हैं, उसी प्रकार सोये। इससे आपको आराम मिलेगा और नींद आने में भी काफी मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: प्रेगनेंसी में नींद ना आने के कारण व 7 असरदार उपाय

#5. सफ़ेद पानी में वृद्धि

योनि से सफ़ेद पानी का आना गर्भावस्था के हर तिमाही में दिखाई देता हैं, किसी को कम और किसी को ज्यादा, जिसे लीकोरिया या व्हाइट डिस्चार्ज भी कहते है। ये पानी सर्विकल मुकुस होता हैं जो कि एक गंधहीन पानी हैं, जो महिला के जनन तंत्र को सही रखने में मदद करता है। ये गर्भावस्था के समय गर्भाशय ग्रीवा में बनता है जो सफ़ेद पानी के रूप में योनि से बाहर निकलते रहता है। जो समय के साथ बदलता रहता हैं, कभी गाढ़ा जैसा हो जाता हैं और कभी गाढ़ा गुलाबी या भूरा जैसा। इससे डरने या परेशान होने की कोई जरूरत नहीं होती हैं क्योंकि ये मृत कोशिकाओ के कारण हो सकता हैं। इसका कारण होता हैं शरीर में ईस्ट्रोजन की मात्रा अधिक होना। इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था के दोरान पानी कब और कितना पीना चाहिए? ये सब आम मुश्किले है जिनका गर्भावस्था के दौरान हर महिला को इसका सामना करना पड़ता हैं। इनके अलावा भी बहुत सी ऐसी मुश्किले हैं जैसे कि उल्टी, खुजली, उठने का मन नहीं होना, पेट पे खिंचाव के निशान बनना आदि। इनके अलावा अगर आपको कोई और परेशानी या मुश्किले हो रही हो तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाए और अपनी सारी बातें बिना किसी झिझक के बताए। जिससे डॉक्टर आपकी बातें समझेगे और आपकी परेशानी दूर करने में आपकी मदद कर सकेगे।
क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null