क्या आपका बच्चा स्तनपान के बाद भूखा तो नहीं हैं? 10 आसान टिप्स में जानिए

क्या आपका बच्चा स्तनपान के बाद भूखा तो नहीं हैं? 10 आसान टिप्स में जानिए

माँ बनना एक खूबसूरत एहसास होता है| साथ ही जब माँ अपने बच्चे को स्तनपान कराती है, वो लम्हा भी हर माँ के लिए बहुत खास होता है। स्तनपान माँ और बच्चे दोनों के लिए बहुत लाभकारी है क्योंकि माँ के दूध में जरूरी पौष्टिक तत्व होते है जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य की वृद्धि एवं विकास के लिए सहायक होता है। लेकिन जब आपका बच्चा स्तनपान सही से न कर रहा हो या फिर स्तनपान के बाद भी भूखा हो तो ये आपके लिए चिंता वाली बात हो जाती है। ये हर नयी माँ के लिए सामान्य चिंता करने वाली बात होती है कि कही मेरा बच्चा स्तनपान के बाद भूखा तो नहीं। लेकिन कोई भी माँ यह निर्धारित नहीं कर सकती की उनके शरीर से कितने दूध का उत्पादन हो रहा है या आपका बच्चा कितना दूध पी रहा है। लेकिन कुछ ऐसी चीजे है जिनसे आप पता कर सकती है कि आपके बच्चे स्तनपान के बाद भूखा तो नहीं हैं।

क्या आपका बच्चा भूख के कारण रो रहा है?

बच्चे बहुत सारे कारण की वजह से रोते है और ये कह पाना मुश्किल है कि आपका बच्चा क्यो रो रहा है। वे शूल की वजह से रो सकते हैं या फिर किसी कपड़े की वजह से या पेट दर्द की वजह से या गंदे डायपर या गैस या फिर भूख। ये चिंता का कारण हो सकता है एक नई मां के लिए, क्योंकि बच्चा क्यो रो रहा हैं इसकी वजह बताना बहुत ही कठिन है। तो आप वास्तव में यह निर्धारित कैसे कर पाएँगी कि आपका बच्चा भूख से रो रहा है या कोई अन्य कारण हो सकता है? आइये जाने- इसे भी पढ़ें: बच्चों के पेट में कीड़े पड़ने के कारण, लक्षण व उपाय

आपका बच्चा भूखा है, ये अनुमान कैसे कर सकते है

सभी बच्चे अगर वो भूखे होते है तो जरूर कुछ संकेत देते है जिससे हमे समझने की जरूरत है। जैसे की मेरी बेटी का जब पेट नहीं भरता था तो वो अपने सर को नोचने लगती और जोर-जोर से रोने लगती थी। तो आइये जाने कब बच्चा भूखा हो सकता है।
शिशु के रोने के कारण व शांत कराने के ५ असरदार उपाय चित्र स्रोत: BabyCenter
  • जोर-जोर से रोना
  • बैचेनी होना
  • स्तनपान करने के बाद अगर आपके स्तन मुलायम न हो
  • स्तनपान करने के बाद निप्पल के आकार बदले नज़र आते हो
  • बच्चे अपने अंगूठे या मुट्ठी को बार बार मुंह मे ले रहे हो

10 ऐसे आसान टिप्स जिससे आप पता कर सकती है आपके बच्चा भूखा तो नहीं

स्तनपान करने का तरीका हर बच्चे का अलग होता है, कुछ बच्चों को हर 3 घंटे में दूध पीने के लिए चाहिए और कुछ को नहीं। और कुछ अच्छी तरह से स्तनपान कर पाते है और कुछ को परेशानी होती है। लेकिन आप यह कैसे अनुमान लगा सकती है कि आपका बच्चा पर्याप्त मात्रा में दूध पी रहा है? यहाँ कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको यह जानने में मदद करेंगे कि आपके बच्चे को सही से स्तनपान हो रहा है या नहीं-

#1. डायपर की संख्या

गीले डायपर से आपको पता चल सकता है की आपके बच्चे को सही मात्रा में दूध मिल रहा है या नहीं। आपके बच्चे को कम से कम 6 से 7 बार एक दिन में या प्रत्येक खाने के बाद पेशाब होना चाहिए, अगर आप क्लॉथ डाइपर का इस्तेमाल कर रही हो तो। और अगर आप डिसपोजेबल डाइपर का प्रयोग कर रही है तो 4 से 5 डाइपर भी लग सकते है।

#2. मूत्र का रंग

यदि आपके बच्चे के मूत्र का रंग अधिक पीला हो, जैसे सेब का रस, इसका मतलब है कि आपका बच्चा पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं पी रहा है, और यदि मूत्र पीला या पानी का रंग का है, तो इसका मतलब है कि आपके बच्चे को पर्याप्त स्तन दूध मिल रहा है।

#3. मल का रंग

अगर बच्चे को अच्छी तरह से स्तनपान कराया गया है, तो उसके मल पीले होगे। और गहरे रंग के मल से बच्चे के शरीर में पानी की कमी का संकेत मिलता है। कुछ शिशु हर स्तनपान के बाद मल करते हैं और कुछ दिन में एक बार करते हैं। कभी-कभी तो कई बच्चे एक या दो दिन तक भी मल नहीं करते और ये सामान्य बात है लेकिन मल के रंग और स्थिरता का ठीक रहना जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: क्या बच्चों की आँखों में काजल लगाना ठीक हैं?

#4. वजन बढ़ना

अधिकतर शिशुओं, चाहे वो स्तनपान या बोतल से दूध पीते हो, उनके जीवन के पहले कुछ दिनों में कुछ वजन कम हो जाता है। लेकिन यदि बच्चा अच्छी तरह से खा पी रहा है, तो वह 2 सप्ताह के भीतर ही जन्म के वजन में वापस आ जाता है। अगर आपके बच्चे को पर्याप्त दूध मिलता है तो वजन बढ़ने लगता है।

#5. बच्चे के दूध पीने का तरीका

जब बच्चे स्तनपान करते है तो निप्पल चूसते समय कुछ आवाज़े आती है जिससे आप सुन कर समझ सकती है कि आपका बच्चा पर्याप्त दूध पी रहा है। यदि आपका बच्चा को दूध नहीं मिल रहा होगा, तो वह सिर्फ निपल्स चूसते है। और अगर दूध नहीं मिलता है तो वो दूध पिलाने के दौरान सो भी सकते है।

#6. स्तनपान की स्थिति

आप जब भी स्तनपान कराये तो ये जरूर देख ले की आपका बच्चा सही से दूध पी रहा है या नहीं या सिर्फ निप्पल ही चूस रहे है। कभी-कभी बच्चे सिर्फ अपनी माँ के पास ज्यादा समय रहने के लिए भी ऐसा करते है। इसलिए ध्यान रखे, बच्चे को सही से और आराम की मुद्रा में रखे और अच्छे से आराम से दूध पिलाये।

#7. बच्चे की प्रतिक्रिया

अगर आपका बच्चा स्तनपान करने के बाद खुश हो या फिर एक्टिव हो तो, यह एक संकेत है कि उसका पेट भरा हुआ है। लेकिन अगर वही बच्चा लंबे समय तक दूध पीते रहता है या बार-बार दूध मांगता हैं या सुस्त हैं तो यह आपके बच्चे की पर्याप्त दूध नहीं मिलने का संकेत हो सकता है।

#8. स्तन मूल्यांकन

अपने बच्चे को जब आप स्तनपान कराती है तब आपके स्तन पहले की तुलना में नरम महसूस होते है। एक बार जब आप दूध पिलाना शुरू करती हैं, तो स्तनो का भारीपन और दर्द कम होने लगते है।

#9. निप्पल का आकार

कभी-कभी, आपका निप्पल आपके बच्चे को स्तनपान कराने के बाद लगातार चूसने के कारण थोड़ी लम्बी दिखने लगती है| हालांकि कुछ महिलाओ के स्तनपान कराने के बाद निप्पल का आकार परिवर्तित नहीं होता और इसलिए इससे आप अनुमान नहीं लगा सकती बस थोड़ा फर्क जरूर पढ़ सकता है। इसे भी पढ़ें: बच्चों के अंगूठा चूसने के कारण व दूर करने के 5 घरेलु उपाय

#10. शिशु की त्वचा

अच्छे तरीके से जब बच्चे का पेट भर जाता है तो बच्चे स्वस्थ एवं शरीर में विकास होता है जिससे उनकी त्वचा अच्छी होने लगती है। यदि आपके बच्चे की त्वचा पर अभी भी झुर्रीया है और चेहरा भरा नहीं है तो ये मान लीजिये आपके बच्चे का विकास सही से नहीं हो पा रहा और वो भूखा रह जाता है। उसे आवश्यक पोषक तत्व नहीं मिल रहे जो की स्तनपान से ही बच्चे को मिलते है। उपरोक्त सुझाव केवल यह पता लगाने में आपकी मदद करने के लिए हैं कि क्या आपका बच्चा स्तनपान अच्छी तरह से कर रहा है या नहीं। लेकिन उसके शरीर के विकास एवं वृद्धि के लिए आपको सही मात्रा में स्तनपान कराना आवश्यक है। और अगर आपका बच्चा किसी और परेशानी के कारण से रो रहा है या उसे आपके दूध से आवश्यक तत्व नहीं मिल रहे तो अच्छा होगा आप अपने डॉक्टर से इसके बारे में राय ले। क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null