बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए यह खिलाएं

बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए यह खिलाएं

बच्चों के स्वास्थ्य के लिए इम्यून सिस्टम का मजबूत होना बहुत आवश्यक होता है और बच्चों का इम्यून सिस्टम शुरू से कमजोर होता है। उनकी अच्छी सेहत भी काफी हद तक इम्यून सिस्टम पर निर्भर करती है। बच्चे अक्सर बैक्टीरिया ,वायरस, कवक और परजीवी जैसे जीवाणुओं के संपर्क में आते हैं। अगर बच्चों का इम्यून सिस्टम मजबूत है तो वह बीमार नहीं होंगे क्योंकि मजबूत इम्यूनिटी बच्चों को प्राकृतिक रूप से रोगों से बचाव करने में मदद करती है। अगर आपका बच्चा बार-बार सर्दी जुखाम या पेट में गड़बड़ आदि जैसी समस्याओं से ग्रस्त रहता है तो इसका मतलब आपके बच्चे का इम्युनिटी सिस्टम मजबूत नहीं है। जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं तो उनकी एक्टिविटी और शरारत भी बढ़ जाती हैं जिससे उनमें तरह-तरह के रोगो और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में कुछ विशेष आहारो का सेवन करने से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता आसानी से बढ़ाई जा सकती है। तो आइए जानते हैं ऐसे आहार (Immunity Boosting Foods for Kids) जो बच्चों में इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाते हैं।  

बच्चों में इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ाने वाले आहार (Immunity Boosting Foods For Kids in Hindi)

बच्चों में इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ाने के लिए उन्हें पोष्टिक आहार के साथ-साथ उनकी पूरी साफ-सफाई, अच्छी देखभाल और प्यार के साथ-साथ उनमें आत्मविश्वास भी बढ़ाना चाहिए और इन सबके साथ कुछ जरूरी बातें भी हैं जिनका अनुसरण करने से भी बच्चों में इम्यूनिटी मजबूत होती है। आइये जानते हैं: #1. मां का दूध (Breastfeeding) शिशु के जन्म के बाद पहले 36 घंटों के भीतर उसे मां का दूध अवश्य पिलाना चाहिए जिसमें कोलेस्ट्रल नामक एक ऐसा तत्व होता है जो ना केवल उसे जीवन भर कई गंभीर बीमारियों से बचाता है बल्कि बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत बनाता है। मां का दूध बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने का एक बड़ा ही शानदार तरीका है। मां के दूध में सभी प्रकार के प्रोटीन, चीनी और वसा मौजूद होते है जो एक बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। इसमें एंटीबॉडीज और सफेद रक्त कोशिकाएं भी होती हैं और यह दोनों कोशिकाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाती हैं।   Also Read: Home Remedies for Cough and Cold in Hindi 

#2. प्रोटीन युक्त आहार (Protein Foods) बच्चे अक्सर बीमारियों की चपेट में आते रहते हैं तो इसके लिए प्रोटीन से भरपूर आहारो का सेवन जरूर करवाना चाहिए। प्रोटीन से एंटीबॉडीज बनते हैं जो शरीर की इम्युनिटी सिस्टम की कार्यप्रणाली के लिए आवश्यक है। दाल, अंडे, मांस, डेयरी उत्पाद, सोया, मछली आदि प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं।   #3. विटामिन डी युक्त आहार (Vitamin D Foods) विटामिन डी युक्त आहार बच्चों के लिए बहुत जरूरी है। इसका सेवन करने से उनमे रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है और साथ में हड्डियां भी मजबूत होती है। इसके अलावा यह दिल को भी स्वस्थ रखने में बहुत जरूरी होता है परंतु विटामिन डी बहुत कम चीजों में पाया जाता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में एक औषधि की तरह काम करता है।   #4. फल और सब्जियां (Fruits and Vegetables) स्वस्थ आहार बच्चों के शरीर को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाता है। फल और सब्जी जैसे शकरगंद, सेब, गाजर, सेम की फली, कीवी, खरबूजा, नारंगी, स्ट्रौबरी इत्यादि को अपने बच्चों के आहार में जरूर शामिल करें। आप बच्चों को कच्चे जैविक फल और सब्जियां खिलाएं। छोटे बच्चों को आप रोजाना सभी प्रकार के फल जरूर खिलाएं। इसके लिए आप स्मूथी, जूस , पेस्ट बना सकते हैं। आप यह नियम याद रखें कि जितनी आपके बच्चे की उम्र है उसे प्रति भोजन उतने ही बड़े चम्मच फल और सब्जी खिलाये। आप उनके साथ-साथ बच्चों को खट्टे फल जैसे संतरा, मौसमी, नींबू, आंवला इत्यादि भी खिलाएं। इनमें विटामिन सी होता है जो रेडिकल्स से हमारी कोशिकाओं का बचाव करता है। यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है जिसके कारण सर्दी, खांसी व अन्य इंफेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है। इसलिए सर्दी के मौसम ने हमें अपने बच्चों के भोजन में यह सारे फल और सब्जियां शामिल करनी चाहिए।   #5. साबुत अनाज (Whole grain) साबुत अनाज में विटामिन ए, बी 2, बी 6 और सी, जिंक, सेलेनियम और आवश्यक फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होते हैं। बच्चों को यह जरूर खिलाना चाहिए।   #6. ब्रोकली (Broccoli) ब्रोकली में विटामिन ए और सी के अलावा ग्लूटाथिओन नामक एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाया जाता है। हो सकता है इसे बच्चे खाना ना पसंद करें परंतु फिर भी आप अपने बच्चे को यह जरूर खिलाएं। आप इसमें थोड़ा सा पनीर के साथ स्टीम ब्रोकली मिलाकर स्वादिष्ट सलाद बना सकती है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है और इससे पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम भी मिलता है।   #7. पालक और मशरूम (Spinach and Mashroom) पौष्टिक तत्वों से भरपूर हरी पत्तेदार पालक को सुपर फूड के नाम से भी जाना जाता है। इसमें फोलेट नामक तत्व होता है जो शरीर में नई कोशिकाओं को बनाने के साथ-साथ उन कोशिकाओं में मौजूद डीएनए की भी सुरक्षा बनाए रखते हैं। पालक में मौजूद फाइबर आयरन एंटीऑक्सीडेंट तत्व और विटामिन सी शरीर को हर तरह से स्वस्थ बनाए रखता है। पाचन तंत्र को ठीक रखने और कब्ज को दूर करने के लिए उबला हुआ पालक काफी लाभदायक होता है। मशरूम की तो बात ही अनोखी है, इसमें सेलेनियम नामक मिनरल एंटीऑक्सीडेंट तत्व विटामिन बी, रीबोफ्लेविन, नाइसन नामक तत्व पाए जाते हैं। इनके कारण मशरूम में एंटी वायरल व बैक्टीरियल और एंटीट्यूमर तत्व पाए जाते हैं। यह श्वेत कोशिकाओं को सक्रिय रखने में मदद करता है। इसे आप अपने बच्चों को सलाद, सूप और पास्ता के साथ दे सकती हैं। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का बहुत ही अच्छा उपाय है।   #8. लहसून (Garlic) लहसुन काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट बनाकर हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। इसमें एलिसिन नामक एक ऐसा तत्व होता है जो हमें इंफेक्शन और बैक्टीरिया से बचाता है। यह अल्सर और कैंसर से भी बचाव करता है।   #9. मेवे (Dry Fruits) हमें हमारे बच्चों के भोजन में ड्राई फ्रूट्स भी शामिल करने चाहिए जैसे कि बादाम रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ हमारे दिमाग को तनाव से लड़ने की शक्ति देता है। बादाम शरीर में बी टाइप की कोशिकाओं को बढ़ाने का भी काम करता है। यह कोशिकाएं एंटीबॉडीज का निर्माण करती हैं और शरीर को नुकसान करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करती हैं और बीमारियों से हमारे शरीर की रक्षा करती हैं।   #10. दही (Curd) दही भी पेट की लाइनिंग को मजबूत करके इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। यह बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण से भी बचाता है। लेकिन इसकी तासीर ठंडी होती हैं इसलिये इसे रात को अपने बच्चे को देने से बचें।   #11. अंडा (Egg) अंडा विटामिन बी का स्रोत है जो किसी प्राकृतिक फूड से आसानी से नहीं मिलता हैं। इसे कई तरीकों से खाया जा सकता है। इसलिए बच्चे इसे शौक से भी खा लेते हैं।   #12. ओटस (Oats) ओट्स कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करता है और इसमें बीटाग्लूकेन नाम के फाइबर मौजूद होते हैं जो पेट की भीतरी लाइनिंग को मजबूत करते हैं जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।  

इन सब आहाओं के साथ-साथ बच्चों में इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए कुछ विशेष बातें का भी ख्याल रखिए जो इस प्रकार है: #1. अपने बढ़ते बच्चों के लिए पर्याप्त नींद और आराम अत्यंत आवश्यक होता हैं। नींद के अभाव में बच्चों में कई प्रकार की बीमारियां जन्म ले सकती हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक नींद प्रतिरक्षा प्रणाली पर गहरा प्रभाव डालती है। नवजात शिशु को 1 दिन में 18 घंटे की नींद की जरूरत होती है जबकि अन्य बच्चों को उनकी उम्र के हिसाब से 10 से 14 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है।   #2. बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए प्यार और स्नेह सबसे अधिक आवश्यक होता है। इसमें आपको बच्चों की हर इच्छा पूरी करने की जरूरत नहीं है और ना ही कोई महंगे उपहार देने की जरूरत हैं बल्कि सुरक्षित और खुश जीवन के लिए प्यार और भावनाओं की जरूरत होती है। सकारात्मकता और अच्छी भावना भी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं।   #3. प्रकृति प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बहुत लाभदायक होती है। इसलिए बच्चों को बचपन से ही प्रकृति से जोड़कर रखें। अपने छोटे बच्चों को रोजाना जल्दी सुबह सूरज की धूप में 20 मिनट के लिए लेकर जाए इससे उनके शरीर में विटामिन डी की प्राप्ति होगी।   #4. आप बच्चों को शुरू से ही व्यायाम कराना, शारीरिक खेल खेलना इत्यादि सब की आदत डाले। अगर आपका बच्चा थोड़ा बड़ा है तो आप उसके साथ रोजाना व्यायाम करें। आप उसके साथ रोजाना चलना, दौड़ना, जोगिंग करना, साइकिलिंग करना इत्यादि सब व्यायाम 30 मिनट के लिए करेंगे तो यह आपके बच्चे की कैपेसिटी भी बढ़ाएगा। साथ ही यह अच्छी आदत आपके बच्चे के जीवन भर काम आएगी।   #5. चाहे गर्मी हो या सर्दी या बरसात का मौसम, बच्चों में शुरू से ही मौसम का सामान्य तापमान में जीने की आदत विकसित करनी चाहिए क्योंकि इससे उनके इम्यून सिस्टम को मजबूती मिलती है। गर्मी के मौसम में हर समय बच्चों को ऐसी के कमरे में ना रखें और ना ही सर्दी में उन्हें अनावश्यक रूप से ज्यादा कपड़े पहनाए।   #6. चाहे हम कितना भी बचाव कर ले मगर फिर भी बच्चे बीमार हो ही जाते हैं। इसलिए बच्चों को हल्का सर्दी जुकाम हो तो तुरंत उन्हें दवाई देना शुरू ना करें। अगर दो-तीन दिन बाद भी यह समस्या दूर ना हो तभी डॉक्टर की सलाह से बच्चे को दवाई दे। इसके अलावा आप कुछ घरेलू नुस्खे भी अपना सकती हैं।   #7. जहां तक संभव हो आप की कोशिश यही होनी चाहिए कि बच्चों को बोतल की जगह कटोरी-चम्मच से दूध पिलाएं। सर्वेक्षणों से यह पता चला है कि जो बच्चे बोतल की जगह कटोरी चम्मच से दूध पीते हैं उनके पेट में इन्फेक्शन कम होते हैं।   #8. जन्म के पहले दिन से ही इस बात का विशेष रुप से ध्यान रखें कि बच्चों को सभी टीके सही समय पर लगाए जाये। टीके ना केवल शरीर को गंभीर बीमारी से बचाते हैं बल्कि इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाते हैं। अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आपका बच्चा हमेशा स्वस्थ और प्रसन्न रहेगा। क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null