घर पर काजल बनाने के 5 तरीके

घर पर काजल बनाने के 5 तरीके

काजल को आंखों का महत्वपूर्ण गहना माना जाता है। चाहे बड़े हो या छोटे सभी को आंखों में काजल लगाना अच्छा लगता है। इससे आंखें बड़ी, सुंदर और आकर्षक लगती है। प्राचीन समय में तो सभी काजल घर पर ही बनाते थे क्योंकि उस समय काजल बाजार में उपलब्ध नहीं होता था परंतु आजकल बाजार में कई तरह की काजल उपलब्ध है। कई बार यह काजल नुकसान भी पहुंचा सकती हैं जिससे आंखों में खुजली होना या पानी आने लग जाता है। आंखें बहुत ही संवेदनशील होती है जो बहुत जल्दी और आसानी से संक्रमण की चपेट में आ सकती है। तो आइयें जानें घर पर बने काजल के फायदे और इसे बनाने की विधि (Homemade Kajal Recipe)।   घर पर बने काजल के फायदें (Benefits of Homemade Kajal in Hindi)   घर के बने हुए काजल आंखों में ठंडक पहुंचाते हैं और आंखों की दृष्टि को भी मजबूत करते हैं। घर की बनी हुई काजल को ऑर्गेनिक कहा जाता है क्योंकि इसे बनाने में किसी भी तरह के केमिकल का उपयोग नहीं किया जाता है। यह आंखों से अशुद्धियों को निकालती है और लंबे समय तक आंखों को ठंडा रखती है। अगर आप भी घर पर काजल बनाना चाहती है तो इस आसान तरीके को अपनाकर और विभिन्न सामग्रियों का उपयोग करके इसे घर पर ही बना सकती हैं। आइए जानें घर पर काजल बनाने की विभिन्न विधियां (Kajal Banane ke Vidhi)  

घर पर काजल बनाने की विधि (Homemade Kajal Recipe in Hindi)

 

#1. सरसों के तेल से काजल (Kajal using Mustard Oil)

  सामग्री:
  • एक ही आकार के दो कप
  • एक तांबे की प्लेट
  • सरसों का तेल
  • मिट्टी का दिया
  • रूई
  • अजवाइन
  • शुद्ध देसी घी
  • एक छोटी डिब्बी (काजल डालने के लिए)
  Also Read: Homemade Cerelac Recipe in Hindi  

विधि:

  • सबसे पहले आप दोनों कपों को थोड़ी दूरी पर रखे जिससे उन दोनों के बीच में मिट्टी का दिया आ जाए
  • अब दिया में सरसों का तेल डाल कर दिया भर दे
  • रुई की बत्ती बना ले व बत्ती बनाते समय उसमें थोड़ी अजवाइन भी डाल दे
  • बत्ती को बनाकर उसको तेल में डुबोकर दिए में रख दें
  • दिए को जला दें और फिर दोनों कपों पर तांबे की प्लेट रखें ध्यान रखें कि दिए की लों प्लेट तक पहुंचनी चाहिए
  • अब इसे सारी रात जलने दे क्योंकि इसे बनाने में 10 से 12 घंटे लगते हैं
  • सुबह प्लेट ठंडी होने पर उसे सीधा करके उस पर जमी कालिख को खुरचकर खाली डिब्बी में डाल दें
  • अब इस कालिख में कुछ बूंदे देसी घी की मिलाकर काजल को स्मूथ कर ले
  • काजल का पेस्ट ना ज्यादा पतला और ना ही ज्यादा गाढ़ा होना चाहिए
  • यह काजल बनाने का सबसे पुराना और सुरक्षित उपाय हैं जिससे आंखों में खुजली भी नहीं आती है यह पूरी तरह से प्राकृतिक काजल मानी जाती है
इसे भी पढ़ेः घर पर सर्दी खांसी के लिए कैसे बनाएं काढ़ा

#2. बादाम के तेल से काजल (Kajal using Almond oil)

  सामग्री:
  • मिट्टी का दिया
  • तांबे की प्लेट
  • सरसों या अरंडी का तेल
  • बादाम तेल
  • रुई
  • एक छोटी डिब्बी
  • एक ही आकार के दो कप
  विधि:
  • मिट्टी के दीये को जमीन पर रखें और उसमें तेल डाले
  • रुई की बत्ती बनाकर तेल में भिगो कर दिये में रख दें
  • बत्ती लगाकर आप दिये को जलाकर उसके ऊपर तांबे की प्लेट कपों की सहायता से रखें प्लेट इस प्रकार रखे कि दिया बुझ ना पाए और अब इस प्लेट पर कुछ बादाम रखें
  • इन बादाम को पूरी तरह से जलने दे जब यह बादाम जल जाए तो इन बादाम को हटा दे इस प्रक्रिया को अन्य बादाम के साथ भी करें
  • जब सभी बादाम जल जाए तो चाकू से प्लेट के निचे जमी कालिख को निकाल ले और इसे डिब्बी में डालकर रखें
 

#3. कपूर से काजल (Kajal using Kapoor)

  सामग्री:
  • कपूर- दो या तीन
  • तांबे की प्लेट
  • दो सामान आकार के कप
  • एक डिबिया
  विधि:
  • सबसे पहले कपूर के दो या तीन टुकड़े ले और उसे प्लेट के बीच में रखें
  • अब दोनों तरफ कप रखें और माचिस से कपूर को जलाएं और इसे पूरी तरह जलने दे
  • जब कालिख पूरी तरह से प्लेट पर इकट्ठी हो जाए तो उसे चाकू से खुरचकर निकाल ले और एक डिब्बी में डाल कर रखे
  • कपूर से काजल बनाने में 10 मिनट लगते हैं। यह आंखों को आराम पहुंचाता है और आंखों से धूल के कण भी निकालता है
 

#4. एलोवेरा जेल से काजल (Kajal using Aloe Vera Jel)

  सामग्री:
  • एलोवेरा जेल
  • कैस्टर ऑइल
  • एक तांबे की प्लेट
  • एक दिया रुई
  • दो सामान आकार के कप
  विधि:
  • सबसे पहले आप एक दिया लें और उसमें कैस्टर ऑयल डालें
  • फिर दिये में रुई की बत्ती बना कर डाले और दिया जला दे
  • अब एक प्लेट लेकर उसमें एलोवेरा जेल डालें और दोनों कप की सहायता से दिये की लों के ऊपर रखें और इसे इस तरह से रखे कि एलोवेरा जेल वाला हिस्सा जलें
  • जब वह पूरी तरह से जल जाए तो उसे चाकू से प्लेट के नीचे जमी कालिख को खुरचकर डिबिया में निकाल कर रख दें
  • यह काजल बनाने में 7 से 8 घंटे लगते हैं इसलिए इसके लिए भी रात का समय अच्छा रहता है एलोवेरा का काजल आंखों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है
 

#5. कैस्टर ऑयल से काजल (Kajal using Caster Oil)

  सामग्री:
  • कैस्टर ऑयल
  • मिट्टी का दिया
  • रुई
  • तांबे की प्लेट
  • एक समान आकार वाले दो कप
  • बादाम का तेल
  • एक छोटी डिबिया
  विधि:
  • सबसे पहले एक दिया लें और उसमें कैस्टर ऑयल भरे
  • अब रुई की बत्ती बनाकर उसमें डुबोकर दिये को जला दे
  • दिये के दोनों और कप रख कर, फिर कप के सहारे दिये के ऊपर प्लेट रखें
  • प्लेट को ऐसे रखें कि दिए की लों प्लेट तक पहुंचे ताकि प्लेट पर कालिख इकट्ठी हो जाए
  • कालिख होने पर इसे खुरच कर एक डिब्बी में डाल दें
  • फिर इसमें बादाम के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं और इसे अपने आप सूखने दें
इसे बनाने में 10 से 15 घंटे लगते हैं इसलिए इसे भी रात को बनाना सही है Also Read: How to Stop Breastfeeding क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null