गर्भावस्था के दौरान उल्टी रोकने के घरेलू उपाय

गर्भावस्था के दौरान उल्टी रोकने के घरेलू उपाय

गर्भावस्था के दौरान उल्टी होना, कुछ महिलाये यह समस्या बड़ी आसानी से सह लेती है परंतु कुछ महिलाओं को तो पूरे 9 महीने ही बहुत ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है वैसे गर्भावस्था के दौरान उल्टियां होना एक स्वाभाविक बात है और उल्टी आना (pregnancy mein ulti aana) तो गर्भावस्था के लिए एक शुभ संकेत भी माना जाता है इस दौरान एक महिला को आंतरिक रूप से और बाहरी रूप से कई तरह के बदलाव आते हैं और इन्हीं हार्मोनल बदलाव के कारण जी मचलना और उल्टी होना जैसी समस्याएं पैदा होती है गर्भावस्था के दौरान महिला को 9 महीने तक उल्टी (Vomiting During Pregnancy) का सामना भी करना पड़ता है   प्रेगनेंसी में उल्टी कब तक होती है? उल्टी होना गर्भावस्था के पहले चरण की पहचान है क्योंकि गर्भावस्था के पहले 3 महीने में उल्टी होना, जी मचलना और मॉर्निंग सिकनेस होना एक आम बात है इस समस्या से लगभग सभी महिलाएं होकर गुजरती हैं कई महिलाओं को तो पूरे नौ महीने तक उल्टी होती है। यह उल्टियां सुबह सुबह ज्यादा होती हैं इसलिए इसे मॉर्निंग सिकनेस (Morning Sickness) भी कहते हैं। अगर आपको उल्टी आ रही है तो आपको घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है परंतु अगर यह समस्या आपको बहुत ज्यादा यानी आपको उल्टी रोजाना आती है और रोज बार-बार या कई बार आती है तो आपको सतर्क होना भी आवश्यक है आप इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी अपना सकती हैं तो आइए जानते हैं गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने पर आपको क्या करना चाहिए इसे भी पढ़ेंः नॉर्मल डिलीवरी के बाद शरीर दर्द कैसे दूर करें

गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने पर घरेलू उपाय (Home Remedies to Stop Vomiting During Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी में उल्टी होने पर आप चाहें तो कुछ घरेलू उपाय (Pregnancy me ulti rokne ke upay) अपनाकर इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं, जो कि इस प्रकार हैं:

#1. पर्याप्त पानी पिएं (Drink more water)

प्रेगनेंसी के दौरान जी मचलने पर या उल्टी होने पर पानी पीना चाहिए यह इस समस्या से निजात पाने का एक अच्छा विकल्प है अगर आप हर 1 घंटे के बाद एक गिलास पानी पिएंगे तो आपको सुबह उठकर उल्टी जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा इसके अलावा पानी आपके शरीर को हाइड्रेट बनाए रखने में भी मदद करता है जो किसी भी गर्भवती महिला या उसके अजन्मे बच्चे के लिए जरूरी होता है इसके लिए आप दिन भर में थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहें सुबह भी आप जगने के तुरंत बाद पानी पिए। यह आपके पाचन तंत्र को सुधारने में काफी मदद करेगा  

#2. नींबू (Lemon)

नींबू में विटामिन सी होता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है यह गर्भावस्था के दौरान उल्टी को रोकने में भी मदद करता है और इसकी गंध शरीर पर एक प्राकृतिक शांत प्रभाव भी डालती है इसके लिए आप एक गिलास पानी में एक नींबू का रस, शहद और पुदीने का रस मिलाकर पिए इससे आपको उल्टी से राहत मिलेगी आप इसे दिन में दो बार भी पी सकती हैं इसके अलावा आप एक नींबू को काट कर उसके एक टुकड़े पर काला नमक और जीरा पाउडर लगाकर भी चाट सकते हैं इससे भी आपका जी मचलना बंद होगा और आपको उल्टियाँ नहीं होगी  

#3. काले चने के पानी (Black gram water)

अगर आप ज्यादा उल्टियां करने से परेशान हैं तो आपको कमजोरी महसूस हो रही होगी इसलिये आप रात के समय एक गिलास पानी में काले चने भिगोकर रख दें और सुबह उठकर यह पानी पी लें प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली उल्टी (Pregnancy mein Ulti) से बचने का यह सबसे प्रभावशाली उपाय माना जाता है।  

#4. धनिया (Coriander)

गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने पर धनिया भी बहुत फायदेमंद होता है चाहे वह सूखा धनिया हो या हरा धनिया आप कोई भी धनिए को पीसकर उसका मिश्रण बना लें और समय-समय पर आप यह मिश्रण लेती रहें। इससे भी आपको बहुत फायदा मिलेगा  

#5. अदरक (Ginger)

उल्टी रोकने का सर्वोत्तम तरीका है अदरक जो कि गर्भावस्था के दौरान होने वाली उल्टी को रोकने के लिए सदियों से उपयोग किया जाता है यह पाचन तंत्र के लिए भी अच्छा होता है और उल्टी होने के प्रमुख कारण अम्ल को भी रोकने में मदद करता है अदरक उल्टी रोकने में काफी फायदेमंद होता है इसके लिए आप एक कप पानी में थोड़ी अदरक को 10 मिनट के लिए उबाल ले या फिर आप अदरक की चाय को पिए आप चाहे तो इसमें शहद भी मिला सकती है इसके अलावा आप अदरक के रस की पांच बूंदों को एक चम्मच शहद में मिलाकर सुबह उठकर इसे धीरे-धीरे चाटती रहे तो आपका जी मचलना और उल्टी होना भी बंद हो जाएगा इसे भी पढ़ेंः डिलीवरी के दौरान किन बातों का रहता है डर

#6. जीरा (Cumin)

आप उल्टियां होने पर जीरे के पाउडर में शहद और इमली को बराबर मात्रा में मिलाएं और फिर आप रोजाना सुबह उठकर इसे खाएं इससे आपको पूरा दिन आराम मिलेगा और आप तनाव मुक्त भी होकर रहेंगे  

#7. सौंफ (Fennel)

सौंफ हमारी पाचन क्रिया को सुधारकर हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और यह उल्टी को भी रोकने का काम अच्छे से करता है इसके लिए आप हमेशा सौंफ को अपने मुंह में रखें और जब भी आपका जी मिचलाए या उल्टी आए तो आप सौफ को मुहं में डालकर चबाना शुरु कर दें इसके अलावा आप सौंफ की चाय बना कर भी पी सकती हैं एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ लेकर 7 से 8 मिनट तक उबालें फिर इसमें शहद और नींबू का रस मिलाकर पी जाएं और देखें इसका फायदा  

#8. पुदीने (Peppermint)

पुदीना एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है जो गर्भावस्था के दौरान उल्टी को कम करने या फिर रोकने के साथ-साथ पेट में होने वाली गड़बड़ को भी शांत करती है इसके लिए आप एक कप गर्म पानी में सूखे पुदीने की एक चम्मच को मिलाएं और 5 से 10 मिनट के लिए गर्म करें फिर शहद मिलाकर पिए, आपको आराम मिलेगा  

#9. बिस्कुट (Biscuits)

सुबह-सुबह उठकर एक या दो बिस्कुट खाने से आपको कुछ राहत मिलेगी और आपको कमजोरी भी महसूस नहीं होगी क्योंकि बिस्कुट कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है यह रात के समय में आपके पेट में बनने वाली एसिडिटी को कम करने में भी आपकी मदद करता है इसलिए सुबह उठने के बाद या सुबह के नाश्ते में बिस्कुट लेना गर्भावस्था के दौरान होने वाली उल्टी से राहत पाने के लिए एक अच्छा तरीका है  

#10. आंवले का मुरब्बा (Amla Murabba)

अगर गर्भावस्था के दौरान आपको उल्टी की वजह से मॉर्निंग सिकनेस लगती है तो आप आंवले के मुरब्बे का सेवन करें यह एक अच्छा तरीका है उल्टी को रोकने का और एनर्जी को बनाए रखने का  

सावधानियां (Precautions while Vomiting During Pregnancy in Hindi)

इसके अलावा आप कुछ सावधानियां बरतकर भी उल्टी जैसी समस्या से निजात पा सकती हैं:  
  • गर्भावस्था के दौरान आप पूर्ण आराम करें क्योंकि ज्यादा थकावट भी उल्टी का कारण बन सकती है
  • उल्टी होने पर आप तरल पदार्थ का सेवन एक बार में अधिक लेने की बजाएं कम मात्रा में परंतु नियमित रूप से लें
  • आप फलों का जूस आदि तरल पदार्थ का सेवन ज्यादा करें
  • आप थोड़ी-थोड़ी देर में थोड़ी-थोड़ी मात्रा में विशेष रुप से कार्बोहाइड्रेट्स वाला भोजन लें इससे आपको मॉर्निंग सिकनेस नहीं होगी
  • गर्भवती महिला को ज्यादा देर तक खाली पेट नहीं रहना चाहिए बल्कि उन्हें कुछ ना कुछ खाते रहना चाहिए
  • गर्भावस्था के दौरान थोड़ा घूमना, फिरना या फिर हल्के व्यायाम करना अच्छा रहता हैं इससे आपको फायदा मिलेगा
  • सुबह और रात को खाना खाने के बाद थोड़ा पैदल चलें
  इतना सब करने के बाद भी अगर आपको आराम नहीं मिल रहा हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें अगर आप इसे इग्नोर करती हैं तो इससे आपके शरीर में निर्जलीकरण की समस्या होगी और शरीर में कमजोरी आ जाएगी जिसका असर आपके साथ-साथ आपके पेट में पल रहे बच्चे पर भी पड़ेगा इसे भी पढ़ेंः गर्भावस्था के महत्वपूर्ण बातें   क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null

null