सर्दियों में छोटे बच्चों को कैसे बचाएं सर्दी-जुकाम से

सर्दियों में छोटे बच्चों को कैसे बचाएं सर्दी-जुकाम से

हमारे देश में हर 3 महीने में मौसम बदलता रहता है और इस बदलते मौसम में सबसे पहले चपेट में आते हैं हमारे शिशु। जब हमारे बच्चों को सर्दी जुकाम हो जाता है तो हर माता-पिता के लिए यह काफी तकलीफदेह होता है क्योंकि इससे बच्चे में बेचैनी बनी रहती है। इसकी वजह से बच्चा अपनी नाक को सिकुड़ता रहता है जिससे उसे साँस लेने में भी बहुत दिक्कत होती है क्योंकि जुकाम की वजह से शिशु की नाक बंद हो जाती है। वह मां का दूध पीते वक्त बार-बार मुंह से सांस लेने के लिए मजबूर हो जाता है। परंतु आप उसकी यह तकलीफ दूर करने के लिए काफी कुछ कर सकती है। आइयें जानें बच्चों की सर्दी जुकाम दूर करने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Cold and Cough of Small Kids)।   बच्चों को सर्दी जुकाम होने पर आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह एक आम समस्या है। यह कोई ज्यादा गंभीर समस्या नहीं है और यह लगभग सभी शिशुओ को अपनी चपेट में लेती है। विशेषज्ञों के अनुमान के मुताबिक आपके शिशु को पहले के 2 सालों में 8 से 10 बार जुकाम लगता है।   शिशुओं में सर्दी जुकाम होने के कारण (Causes of Cold and Cough in Babies in Hindi) सर्दी जुकाम हमेशा मुंह, नाक और गले के संक्रमण से होता है जो कि बहुत से अलग-अलग विषाणुओ में से किसी एक की वजह से होता है। शिशु को जुकाम इसलिये भी होता है क्योंकि उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली बड़ों की भांति पूरी तरह से विकसित नहीं होती है और वह अभी संक्रमण से लड़ने की शक्ति विकसित कर रहे होते हैं। सर्दी जुकाम की बीमारी एक संक्रामक बीमारी है जो किसी सर्दी जुखाम से ग्रस्त व्यक्ति के संपर्क में आने या शिशु के मुंह के सामने सांस लेने से भी हो सकती है। शिशु को सर्दी जुकाम के हाथ लगाने से भी यह बीमारी हो सकती है।   शिशु में सर्दी जुकाम के लक्षण (Symptoms of Cold and Cough in Babies) अगर आपके शिशु को भी सर्दी जुकाम है तो आपको निम्नलिखित लक्षणों में से कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जो इस प्रकार है:

  • शिशु को तेज बुखार का चढ़ना
  • गले में खराश का होना
  • आंखों का लाल होना
  • नाक का बंद होना या फिर नाक का बहना
  • कान में दर्द का होना
  • शिशु का भूख का ना लगना
  • उसको खांसी होना
  • गर्दन में सूजन का होना
  • शिशु का अत्यधिक रोना
Also Read: Difference between Nebulizer and Vaporiser in Hindi

शिशु को सर्दी जुकाम से बचाने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Cold and Cough of Small Kids in Hindi)

#1. स्तनपान (Breastfeeding) मां का दूध शिशु के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है खासकर उस समय जब वे बीमार होते हैं। स्तनपान से शिशु को एंटीबॉडीज संक्रमण से लड़ने के लिए आपके शरीर में मौजूद पोषक तत्वों की संख्या प्राप्त होती है जिससे उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। इसलिए अपने शिशु को समय-समय पर स्तनपान करना जारी रखें जिससे उन्हें रोगों से लड़ने में व शीघ्र स्वस्थ होने में सहायता मिलें।

#2. सरसों का तेल, अजवाइन और लहसुन (Mustard oil, Ajwain and Garlic) सरसों के तेल में अजवाइन व लहसुन की 8 से 10 कलियां लेकर उसे पकाएं। फिर उस गुनगुने तेल से बच्चों के शरीर व् सिर की मालिश करें। सरसों के तेल, अजवाइन और लहसुन में कीटाणुरोधक गुण पाए जाते हैं। इससे आपके बच्चे को सर्दी जुकाम की समस्या से बहुत आराम मिलता है।   #3. नारियल का तेल व सहजन की पत्तियां (Coconut oil and drumstick leaves) एक मोटे तले की कढ़ाई में आधा कप नारियल का तेल डालकर गर्म करें। उसमें मुट्ठी भर सहजन की पत्तियां डाल दे। जब यह इसमें सूख जाए तो आप कढ़ाई को गैस पर से उतार दें। जब भी आपके शिशु को सर्दी जुकाम लगता है तब आप इस तेल से अपने बच्चों के बालों व शरीर की मालिश करें।   #4. पेट्रोलियम जेली (Petroleum jelly) शिशु को सर्दी-जुकाम होने पर उसकी नाक पर पेट्रोलियम जेली लगाएं। जहां शिशु की नाक अधिक लाल व सूजी हुई हो तो वहां पर आप थोड़ी अधिक मात्रा में जेली लगा दे। सर्दी जुकाम के कारण नाक के आसपास रुखापन होने लगता है इसलिए जेली लगाने से थोड़ा आराम मिलता है।   #5. अदरक और दालचीनी (Ginger and Cinnamon) दो कप पानी में आधा कप बारीक कटे हुए अदरक के टुकड़े और दालचीनी के 2 बड़े टुकड़ों को डालकर, इसे गैस पर 20 मिनट तक धीमी आंच पर पकाएं। जब पानी आधा रह जाये तब इसे छानकर इसमें चीनी या शहद को मिलाकर दिन में तीन से चार बार अपने बच्चे को थोड़ा-थोड़ा करके पिलाए।   #6. गर्म तरल पदार्थ दें (Give Hot Liquid Things) आप अपने बच्चे को तरल पदार्थ गर्म करके पिलाये। अगर आपका बच्चा 6 महीने का है तो आप उसे फलों या सब्जियों का सूप दे सकती है। इसके अलावा आप अपने शिशु को गर्म हर्बल टी, सेब का रस इत्यादि भी गर्म करके दे सकती है। तरल पदार्थों का सेवन बच्चों को डिहाइड्रेशन से बचाता है और शिशु के गले में खराश और सूजन से भी राहत दिलाता है।   #7. शहद (Honey) सर्दी और जुकाम से पीड़ित बच्चों के लिए शहद एक अचूक उपाय है। अगर आपका बच्चा 1 साल से बड़ा हो तो आप अपने बच्चे को एक चम्मच नींबू के रस में दो चम्मच शहद मिला ले। फिर इसे दिन में 2 से 3 घंटे के अंतराल में अपने बच्चे को पिलाएं। गर्म दूध में भी शहद मिलाकर पिलाने से सुखी खांसी से राहत मिलती है परंतु इस बात का ध्यान रखें कि 1 साल से छोटे बच्चों को शहद ना दें क्योंकि यह बच्चों में संक्रमण कर सकता है।   #8. भाप दे (Give steam) सर्दी और जुकाम से शिशु की नाक बंद हो जाती है। इससे उन्हें स्तनपान करने और सांस लेने में बहुत दिक्कत आती है। इसके लिए आप गर्म पानी का शावर चालू कर के शिशु को लेकर बाथरूम में जाकर बैठ जाए व दरवाजा बंद कर दें। इससे बाथरूम में भाप इकट्ठा हो जाएगी जो आपके शिशु की नाक खोलने में मदद करेगी। परंतु ध्यान रहे शिशु को गर्म पानी के बिल्कुल नजदीक ना लेकर जाए क्योंकि इससे जलने का खतरा हो सकता है। इसके अलावा आप पानी को गर्म करके उसमें थोड़ा नमक मिला दे और इसकी भाप अपने शिशु को दें, इससे भी बंद नाक से राहत मिलती है।   #9. गुड़, जीरा और काली मिर्च (Jaggery, Jeera and Pepper) आप एक गैस पर दो कप पानी लेकर उसमें गुड़, जीरा और काली मिर्च का मिश्रण तैयार करके उबाले। फिर पानी के आधा रह जाने पर उसे छान लें। इसे दिन में दो से तीन बार अपने बच्चे को पिलाने से सर्दी जुकाम की समस्या से राहत मिलती है।   #10. आंवला (Emblica) आंवले को धोकर उबाल लें और उसके बीज भी निकाल कर फेंक दे। फिर आंवले को पीसकर कढ़ाई में थोड़ा देसी घी डालकर उसका हलवा बना ले। उसमें थोड़ी मात्रा में गुड मिला दे। आप चाहे तो इसमें मेवे का पाउडर भी डाल सकती है। फिर इसे अपने बच्चे को रोजाना एक-एक चम्मच खिलाएं। इससे भी सर्दी-जुकाम की समस्या से राहत मिलती है।  

Also Read: Home Remedies for Fever in Kids शिशु को सर्दी-जुकाम से बचाने के लिए सावधानियां (Prevention Tips for Cold and Cough for Babies in Hindi) उपचारों के साथ-साथ आपको अपने शिशु को सर्दी और जुकाम से रक्षा करने के लिए कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी है, जो इस प्रकार है:
  • शिशु को संक्रमण से बचाने के लिए साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें। उसको कुछ भी खिलाने से पहले अच्छे से हाथ धो ले।
  • अगर घर में किसी और को सर्दी-जुकाम की समस्या है तो उससे बच्चों को दूर रखें और बच्चों को उठाने से पहले भी अच्छे से हाथ धो ले।
  • शिशु को मौसम के अनुसार ही कपड़े पहनाये क्योंकि बड़ों की तुलना में शिशुओं में अपना तापमान नियंत्रण रखने की क्षमता कम होती है। इसलिए सर्दी में उनको ठंड से बचाने के लिए टोपी, दस्ताने इत्यादि अच्छे से पहनाकर रखें।
  • अगर शिशु की नाक बंद हो तो उसकी गर्दन के नीचे तकिये के साथ कोई कपड़ा लगाकर उसका सिर थोड़ा ऊंचा कर दे ताकि उसे सांस लेने में कोई दिक्कत ना आए।
  • शिशु को अपने आप से ही कोई दवा ना दे। अगर आराम ना मिल रहा हो तो अपने डॉक्टर से जरूर सलाह ले।
  • आप अपने शिशु को तरल पदार्थ थोड़ी-थोड़ी मात्रा में करके देते रहे ताकि जुकाम की वजह से उसके शरीर में निर्जलीकरण की समस्या ना हो।
  अगर आपका शिशु सब घरेलू उपचार (Home Remedies for Cold and Cough of Small Kids) और सावधानियों के बाद भी ठीक ना हो रहा हो और सर्दी जुखाम एक सप्ताह से ज्यादा अधिक समय से हो तो फिर बिल्कुल भी देरी ना करके डॉक्टर से सलाह लें क्योंकि यह एक गंभीर संक्रमण भी हो सकता है। Also Read: Best Food to Increase Platelets Count During Dengue
क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null