मां बनना है तो अपनानी होंगी यह 6 आदतें

मां बनना है तो अपनानी होंगी यह 6 आदतें

यह तो सभी जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान माँ को अपना और शिशु का खास ख्याल रखना चाहिए क्योंकि इस दौरान उसका स्वस्थ रहना शिशु को भी स्वस्थ रखता है। लेकिन इसके साथ एक मां बनने से पहले एक स्त्री को कुछ खास बातों का भी ख्याल रखना चाहिए ताकि उसकी प्रेगनेंसी आसान हो। आजकल के आधुनिक युग में हर इंसान का रहन-सहन और जीवनशैली बिल्कुल बदल चुकी है। हमारी आदतें भी अब इस नए युग के अनुसार बदल गयी हैं। लेकिन अगर आप माँ बनना चाहती हैं तो कुछ आदतों का त्याग करना और कुछ नयी आदतों को अपनाना बेहद अवश्य है जिससे आपका शिशु आपकी नजरों से एक नई, अच्छी और स्वस्थ दुनिया को देख सके। जानिए ऐसी ही कुछ आदतों (Healthy Habits for Pregnancy) के बारे में।

 

क्यों खास है मां का अहसास
माँ का अस्तित्व भगवान से कम नहीं होता क्योंकि माँ अपने बच्चे के लिए वो सब करती है जो शायद ही किसी के लिए कोई व्यक्ति कर सकता है। माँ का पूरा जीवन अपने बच्चे के इर्द गिर्द घूमता है। माँ केवल अपने बच्चे को नौ महीने अपने गर्भ में ही नहीं पालती बल्कि उसके बाद अपनी पूरी जिंदगी अपने बच्चे के लिए समर्पित कर देती है। गर्भावस्था के वो नौ महीने बहुत मुश्किल होते हैं लेकिन माँ अपने बच्चे के लिए हर मुश्किल को खुशी-खुशी सहन करती है। चलिए जानते हैं कुछ ऐसी आदतों के बारें में जिन्हें मां बनने से पहले आपको अवश्य ध्यान रखनी चाहिए।

मां बनना है तो अपनानी होंगी यह आदतें (Healthy Habits for Pregnancy in Hindi)
#1. आहार (Diet)
आजकल का ज़माना फ़ास्ट फ़ूड का है, ऐसे में पोषक तत्व मिल रहा है या नहीं इस पर कोई ध्यान नहीं देता। कहा जाता है कि होने वाली माँ को वो सब खाना चाहिए जो उसका मन करे लेकिन फिर भी गर्भावस्था में आहार संबंधी कुछ बातों का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। होने वाली माँ को ऐसे आहार का चुनाव करना चाहिए जिससे उसके गर्भ में पल रहे शिशु को पर्याप्त प्रोटीन और विटामिन मिल सके। फ़ास्ट फूड, अधिक मिर्च-मसाले या तेल वाले खाने का प्रभाव आप पर और आपके बच्चे पर पड़ सकता है जिसके कारण बच्चे का वजन बढ़ सकता है।

इसे भी पढ़ेंः सी सेक्शन डिलीवरी के बाद अपनाएं यह सावधानियां 

 

इसके साथ ही ऐसे आहार से गर्भावस्था और प्रसव में भी कई समस्याएं आ सकती है। संतुलित और पौष्टिक आहार आपको एक स्वस्थ शिशु के जन्म में मदद कर सकता है। इसलिए माँ को पौष्टिक आहार के सेवन की आदत को अपनाना चाहिए। याद रखें गर्भवती स्त्री के शरीर में पानी की कमी भी नहीं होनी चाहिए। गर्भवती महिला के शरीर को सामान्य लोगों से अधिक पानी की आवश्यकता होती है इसलिए उसे कम से कम आठ से दस गिलास रोज़ाना पानी के पीने चाहिए। अगर आपको पानी कम पीने की आदत है तो उसे सुधार लें।

#2. कसरत (Exercise)
अगर आपको कसरत की आदत नहीं है तो गर्भावस्था में इस आदत को अपना लें। इससे न केवल आप सेहतमंद और एक्टिव रहेंगी बल्कि एक स्वस्थ बच्चे को भी जन्म दे सकेंगी। अधिकतर माताएं गर्भावस्था के दौरान आराम करने में विश्वास रखती है जो बिल्कुल गलत और हानिकारक है। इसके लिए आप जिम भी ज्वाइन कर सकती हैं, खुद थोड़ी कसरत कर सकती है और सैर पर जा सकती हैं।

इसे भी पढ़ेंः स्तनपान कराने के सही तरीके

#3. धूम्रपान और शराब से दूरी (Distance from Smoking and Alcohol)
आधुनिक समाज में महिलाओं के लिए धूम्रपान करना और शराब पीना कोई विचित्र बात नहीं है लेकिन महिला अगर गर्भवती है तो उसे अपनी इन आदतों को छोड़ देना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान करना और शराब पीना या अन्य मादक वस्तुओं के सेवन से न केवल आपके और शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है बल्कि इससे समय से पहले प्रसव या अन्य परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है। सिगरेट में मौजूद निकोटीन, कार्बन मोनोऑक्साइड आदि से भ्रूण के विकास या फेफड़ों पर गलत प्रभाव पड़ सकता है। शराब पीने से भी गर्भपात या प्री- मेच्योर प्रसव का खतरा बढ़ जाता है। इसका प्रभाव बच्चे के दिमाग और तांत्रिक तंत्र पर भी पड़ता है।

#4. तनाव (Tension)
तनाव एक आदत तो नहीं है लेकिन फिर भी गर्भावस्था में जितना हो सके इससे दूर रहना चाहिए। तनाव का प्रभाव गर्भावस्था पर बहुत अधिक पड़ता है इसलिए ऐसे लोगों और वस्तुओं से दूर रहने की आदत आपने लें जो आपके तनाव का कारण बन सकते हैं। इसके लिए व्यस्त रहें और वो सब करें जो आपको पसंद है। कसरत, योग और अपने परिवार से सहयोग से आप इससे दूर रह सकते हैं। गर्भावस्था में आप जो भी महसूस करती हैं, वो शिशु भी महसूस करता है और उससे सिखता भी है इसलिए जितना हो सके नकारात्मकता से दूर रहें।

#5. पर्याप्त नींद (Enough Sleep)
अगर आप पार्टी एनिमल हैं या रात को अधिक देर तक जागना आपको पसंद है और आप माँ बनना चाहती है तो इस आदत को तुरंत छोड़ दें। कम सोने से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। जिसका प्रभाव आपके बच्चे पर पड़ सकता है। अपनी नींद पूरी करें और आराम करें। गर्भावस्था में कम से कम आठ से दस घंटे की नींद लेने की आदत डाल लें।

#6. सप्लीमेंट (Supplement)
अगर आप माँ बनना चाहती है तो ध्यान रखें कि आपके शरीर में फोलिक एसिड, कैल्शियम, मिनरल्स की कमी नहीं होनी चाहिए। इस सब को आप अपने आहार से प्राप्त कर सकती हैं या अन्य सप्लीमेंट से भी पा सकते हैं। अगर आपको सप्लीमेंट लेने की आदत न हो तो अब डाल लें और अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार इनका सेवन करें।
इसे भी पढ़ेंः मां का दूध बढ़ाने के उपाय

इसके अलावा अधिक मीठा खाने या अधिक कॉफी पीने की आदत से भी दूर रहने की आदत को अपना लें क्योंकि अधिक मीठा आपको डायबटिक बना सकता है और कॉफी से प्रजनन संबंधी समस्याएं या गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है। अगर आप माँ बनना चाहती हैं तो जितनी जल्दी हो सके, हानिकारक आदतों को छोड़ दें। आपके और आपके बच्चे के लिए यही सही होगा। अच्छी आदतों को अपना कर न केवल अपनी गर्भावस्था का पूरा मज़ा ले पाएंगी बल्कि इससे आप गर्भ में पल रहे शिशु को भी सेहतमंद बनाए रखने में मदद कर सकती है।

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null