प्रेगनेंसी के दौरान जरूर खाएं यह फल

प्रेगनेंसी के दौरान जरूर खाएं यह फल

प्रेगनेंसी के दौरान अक्सर महिलाएं इस बात को लेकर परेशान रहती हैं कि उन्हें कौन से फल खाने चाहिए और कौन से नहीं। कई महिलाओं को यह डर रहता है कि कहीं किसी फल को खाने से उन्हें या उनके बच्चे को समस्या तो नही हो जाएगी। कुछ फल जैसे सेब, संतरा, केला आदि तो प्रेगनेंसी में बहुत फायदेमंद होते हैं लेकिन कुछ फल ऐसे भी हैं जिन्हें सोच-समझकर खाना चाहिए जैसे पपीता, अन्नानास आदि। तो आइयें चले आपको बतातें है कौन से फल प्रेगनेंसी के दौरान खाने चाहिए (Fruits to Eat During Pregnancy) और क्यों।

 

प्रेगनेंसी के दौरान खाने वाले फल (Fruits to Eat During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था में केला खाने के फायदे (Benefits of Banana during Pregnancy in Hindi)

केला पोटैशियम, सोडियम, फॉस्फोरस, विटामिन ए, बी1, बी1 और विटामिन सी से भरपूर होता है। यह प्रेगनेंसी के दौरान अवश्य खाना चाहिए। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली घबराहट, चक्कर आने और ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर करने में भी केला काफी लाभदायक होता है। इसे खाने से रक्त की कमी और थकान भी महसूस नहीं होती। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली कब्ज की समस्या को भी यह दूर करता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह फल फील गुड एंजायम रिलीज करता है यानि अगर आपका मूड खराब है तो बस एक केला खा लीजिए, फिर देखिए आपकी एनर्जी केवल कितनी बढ़ती है।

Read: Top Ten Food to Eat During Pregnancy in Hindi

 

सूपरफ्रूट है तरबूज (Watermelon Benefits in Hindi)

तरबूज एक ऐसा सूपरफ्रूट है जो विटामिन सी, ए, कैलशियम और पॉटेशियम का स्त्रोत होता है। यह प्रेगनेंसी की कुछ खास समस्याओं जैसे सुबह की थकान व उल्टी, हाथ-पांव की सूजन, सीने में जलन आदि को कम करता है। यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करने में भी मदद करता है।

 

अनार खाएं रोगों को दूर भगाएं अनार ऊर्जा का मुख्य स्त्रोत है।

यह कैल्शियम, आयरन और प्रोटीन से भरपूर होता है। यह प्रेगनेंसी के दौरान आयरन की कमी को पूरा करता है। आप इसका जूस पीने के साथ-साथ इसके दानों को भी खा सकती हैं।

 

फाइबर और आयरन से भरपूर सेब

सेब में मौजूद आयरन और फाइबर प्रेगनेंसी के दौरान इसे काफी लाभदायक बनाते हैं। यह खून की कमी, कब्ज, विटामिन की कमी आदि समस्या को दूर करता है। एक रिसर्च के दौरान प्रेगनेंसी के दौरान सेब खाने से होने वाले बच्चे को एलर्जी कम होती है। यह शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।

 

संतरे पूरी करें विटामिन सी की कमी

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में विटामिन सी, फोलिक एसिड और कैल्शियम की कमी को पूरा करने में संतरा काफी लाभदायक होता है। इसके साथ यह प्रेगनेंसी के दौरान ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर करने में भी काफी सहायक होता है। हालांकि इसका सेवन हमेशा नियंत्रित मात्रा में ही किया जाना चाहिए।

 

कीवी

प्रेगनेंसी के शुरुआती समय के दौरान महिलाओं के शरीर को अधिक मात्रा में फोलिक एसिड व आयरन की आवश्यकता होती है। इसके लिए कीवी एक बेहतरीन फल होता है। यह आजकल आसानी से भारतीय बाजारों में भी उपलब्ध होता है। यह बच्चे के दिमागी विकास में भी काफी मदद करता है। साथ ही यह हमारे खाने से आयरन को सोखने में भी मदद करता है। और सबसे अच्छी बात कि इसमें कैलोरीज काफी कम होती हैं।

Read: Heartcare Tips During Pregnancy in Hindi

 

 

पोषक तत्वों की खान एवाकाडो

भारत में एवाकाडो का सेवन हाल के समय में काफी बढ़ा है जिसकी वजह है इसमें मौजूद पोषक तत्वों की भरमार। यह विटामिन सी, विटामिन के, फोलिक एसिड, आयरन, फाइबर, पोटेशियम, मैग्निशियम आदि से भरपूर होता है। प्रेगनेंसी की काफी सारी समस्याएं जैसे पैरों में ऐंठन, थकान आदि समस्याओं को क्षण में दूर करता है। यह थोड़ा महंगा होता है लेकिन इसके पोषक तत्वों के सामने इसकी कीमत शायद ज्यादा महत्व ना रखे।

आडू

आडू बहुत ही सेहतमंद फल है। बेहद सुंदर दिखने वाला यह फल बीटा-केरोटिन, फाइबर, विटामिन ए, ई, सी, सिलीकॉन, आयरन, कैल्शियम और पौटेशियम से भरपूर होता है। देखा एक छोटा-सा फल कितना अधिक फायदेमंद होता है। यह बच्चे के सम्पूर्ण विकास में काफी लाभदायक होता है।

इसे भी पढ़ें: क्या प्रेगनेंसी में पसीना आना सामान्य हैं?

 

फलों का राज आम

आम भी प्रेगनेंसी के दौरान खाना चाहिए। इसमें विटामिन सी, ए, पौटेशियम, आयरन आदि होता है। इसमें प्राकृतिक मिठास होती है जो गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज की समस्या को भी दूर करता है। लेकिन ध्यान रखें अगर बीपी अधिक हो तो इसे कम मात्रा में ही खाएं।

 

गर्भावस्था के दौरान खाएं जाने वाले अन्य फल (Other Fruits to Eat During Pregnancy)

उपरोक्त फलों के अलावा प्रेगनेंसी के दौरान अंगूर, पियर्स, चैरीज, चिकू आदि भी गर्भावस्था (Fruits to Eat During Pregnancy) के दौरान खाने चाहिए। आप फलों का जूस पीने के स्थान पर साबूत फल खाएं। कोशिश करें कि स्नैक्स लेने के स्थान पर फल खाने की आदत डाली जाए। कुछ फलों को हमेशा एक नियंत्रित मात्रा में ही खाएं जैसे आम या सन्तरा।

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null