सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कैसा हो खानपान

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कैसा हो खानपान

प्रसव के बाद जल्दी ठीक होने के लिए पर्याप्त आराम के साथ-साथ सही खाना भी बहुत आवश्यक है। अगर आप सी-सेक्शन प्रसव से गुजरी हैं तब तो आपके लिए यह और भी आवश्यक हो जाता है कि आप अपने आहार को लेकर पूरी सावधानी बरते। सी-सेक्शन प्रसव के बाद आहार (Foods after C Section) ऐसा होना चाहिए जो आपको आसानी से पच जाए। हालाँकि पहली बार माँ बनी महिलाओं को सी-सेक्शन प्रसव के बाद अपने आहार को लेकर अधिक जानकारी नहीं होती जिसके कारण वो अन्य लोगों की मदद लेती हैं।

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए (What should Eat After Caesarean Section Delivery)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद शरीर का ध्यान रखने के साथ यह जानना बेहद आवश्यक है कि सी-सेक्शन प्रसव के बाद क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए इसपर एक नजरः  

#1. साबुत अनाज खाएं (Whole Grains)

साबुत अनाज में बहुत से पोषक तत्व होते हैं जैसे कार्बोहायड्रेट, विटामिन, फोलिक एसिड, लौह और फाइबर आदि। इसलिए ब्राउन राइस, गेहूँ, ओट्स आदि का सेवन करें। यह न केवल आपके बल्कि आपके शिशु के स्वास्थ्य के लिए भी बेहतरीन हैं।

इसे भी पढ़ेंः सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद 10 सावधानिया

#2. दालें खाएं (Pulses)

दालों से हमें प्रोटीन, विटामिन, फ़ाइबर जैसे तत्व प्राप्त होते हैं जो सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद बेहद आवश्यक है। अपने आहार में ऐसी दालों को शामिल करें जो आसानी से पच जाएं जैसे मूंग और मसूर की दाल।

 

#3. फल और सब्जियां आहार में शामिल करें (Fruits and vegetables)

फल और सब्जियां भी शरीर को स्वस्थ और चुस्त बनाये रखने में सहायक है। अपने आहार में अधिक से अधिक सब्जियां और फल लें ताकि आपको कब्ज या पाचन सम्बन्धी समस्याएं न हो। फल और सब्जियां जैसे तरबूज, नींबू, ब्रोकली, पालक, परवल, टिंडा, सेम, मेथी आदि शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। नींबू में विटामिन सी होता है जो सी सेक्शन प्रसव के बाद होने वाले इन्फेक्शन से सुरक्षित रखने में मदद करता है।

 

#4. मेवे जरूर खाएं (Dry Fruits)

ड्राई फ्रूट जैसे अखरोट और बादाम आपको फोलिक एसिड, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, जिंक, पोटेशियम और मैगनीज़ के अच्छे स्रोत हैं, जो स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं।

 

#5. मसाले जो सी सेक्शन डिलीवरी के बाद खा सकते हैं (Spices)

मसाले जैसे जीरा, अजवायन, हल्दी, हींग आदि भी सी-सेक्शन प्रसव के बाद स्वास्थ्यवर्धक हैं। जैसे जीरा स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। मेथी में कैल्शियम, लौह, खनिजों और विटामिन अच्छी मात्रा में होते हैं जिनका प्रसव के बाद सेवन करना उपयोगी होता है। हींग पाचन सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने में भी सहायक है जो प्रसव के बाद बहुत ही सामान्य होती हैं। वहीं हल्दी में विटामिन बी 6, सी, फ़ाइबर, पोटेशियम, मैगनीज़ और मैग्नीशियम होता है जो सी-सेक्शन प्रसव के बाद घावों को भरने में मददगार है। हल्दी टांकों की सूजन को भी दूर करने में भी प्रभावी है।

 

#6. फैट रहित डेयरी प्रोड्क्ट्स लें (Low Fat Dairy Products)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कम फैट वाले डेयरी प्रोड्क्ट्स जैसे स्किम्ड मिल्क, दही, सोया पनीर आदि खाना बेहतर है। बच्चों को मां के दूध से कैल्शियम मिलता है जिससे उसकी हड्डियां मजबूत होती हैं। इसलिए कम से कम दिन में दो से तीन गिलास दूध या अन्य डेयरी प्रोड्क्ट्स अवश्य अपने आहार में शामिल करें।   

#7. नॉनवेज़ विशेषकर लीन मीट खाएं (Eat Lean Meat)

लीन मीट कम फैट वाले मीट को कहते हैं जैसे चिकन ब्रेस्ट या मटन थाईज आदि। यह प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत होता है। सी सेक्शन डिलीवरी के बाद आप जल्दी रिक्वरी के लिए चिकन ब्रेस्ट या अन्य लीन मीट को अपने आहार में अवश्य शामिल करना चाहिए। परंतु ध्यान रखें कि सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कम से कम एक माह के बाद ही यह चीजें खाएं। शुरुआत में हमारी पाचन प्रणाली चिकन या अन्य नॉन वेज को जल्दी पचा नहीं पाती।

 

#8. खूब पानी पिएं (Drink 8-10 Glass of Water)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या खाएं यह तो सब सोचते हैं लेकिन पी क्या-क्या सकते है इसपर कोई ध्यान नहीं देता।  सी सेक्शन या ऑपरेशन से डिलीवरी के बाद आपको कम से कम दिन में आठ या दस गिलास पानी अवश्य पिलाएं। पानी स्तनों में दूध की आपूर्ति को सुनिश्चित करता है। शुरुआत में हल्का गुनगुना पानी पिएं। आप इस दौरान अजवाइन का पानी भी पी सकती हैं। सी सेक्शन डिलीवरी के बाद नारियल पानी, संतरे का जूस, छाछ आदि

#9. अजवायन का पानी पिएं (Ajwain Water after C Section Delivery)

सी सेक्शन डिलीवरी हो या नॉर्मल डिलीवरी अजवाइन का पानी हमेशा महिलाओं के लिए बेहतर होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इसके अलावा यह मां का दूध बढ़ाने में भी सहायक होता है।

 

#10. रागी, दलिया और ओट्स खाएं (Eat Ragi, Oats and Dalia after C Section Delivery)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद आपको फाइबर युक्त चीजों का सेवन अधिक करना चाहिए। फाइबर युक्त आहार प्रसव के बाद होने वाली कब्ज से राहत दिलाने व पेट साफ कराने के लिए बहुत जरूरी होता है।

इसे भी पढ़ेंः सिजेरियन प्रसव के नुकसान और फायदे

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या न खाएं (What should not eat after C Section Delivery)

#1. तला-भुना खाना ना खाएं  (Fried Food)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद केवल हल्का आहार ही लेना चाहिए। तले भुने और अधिक मसालेदार भोजन का सेवन न करें क्योंकि यह आसानी से नहीं पचेंगे जिसके कारण पाचन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। घी और अधिक घी से बने खाने से भी बचे क्योंकि यह भी पचने में आसान नहीं होते।

 

#2. चाय-कॉफी का सेवन ना करें (Tea-Coffee)

अधिक चाय या कॉफी का सेवन करना भी शिशु और महिला के स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है क्योंकि इनमें कैफीन होती हैं जिसका अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

 

#3. अल्कोहल ना लें (Alcohol)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद अल्कोहल और धूम्रपान से भी बचना चाहिए। इनका भी गलत प्रभाव आपके शरीर पर पड़ सकता है। इसके साथ ही अगर आप स्तनपान करा रही हैं तो शिशु के लिए भी यह नुकसानदायक है।

 

#4. मसालेदार भोजन ना खाएं (Avoid Spicy Food After C Section Operation)

डिलीवरी के बाद कुछ दिनों तक मसालेदार भोजन से तौबा करें। मसालेदार आहार से दूध पर भी फर्क पड़ता है। इससे बच्चे को खट्टी डकारें या पेट दर्द भी हो सकता है।  

 

#5. गैस बनाने वाले आहार ना खाएं (Avoid Food Causing Gas)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद बैंगन, छोले, मूली, अरबी जैसी चीजें खाने से बचें। इन चीजों से पेट में गैस बनती है जो टांको के लिए अच्छी नहीं होती। इस दौरान खट्टा मीठा, खाली पेट चाय, अलग अलग तरह के व्यंजन आदि खाने से बचें। भिंडी, आचार, चावल, चना, मटर, राजमा, गोभी, बेसन आदि ऐसे ही आहार हैं।

 

#6. एलर्जी वाली चीजों से रहें दूर (Avoid Allergic Food)

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद एलर्जी वाली चीजें ना खाएं। अगर आपको किसी चीज से एलर्जी हो तो गर्भावस्था या गर्भावस्था के बाद भी इसका सेवन ना करें। इससे बच्चे को भी परेशानी हो सकती है।

इसे भी पढ़ेंः सी-सेक्शन के बाद 5 महत्वपूर्ण बातें

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद जरूरी पोषक तत्व (Nutrients Required after C Section Delivery in Hindi)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद आपका आहार पोषक तत्वों से युक्त होना चाहिए, जैसे कि:

#1. आयरन युक्त आहार (Iron)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद महिला के शरीर में खून की कमी हो जाती है। शरीर में खून की कमी न हो इसके लिए आप अपने आहार में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को अवश्य शामिल करें। अगर गर्भावस्था के बाद एनीमिया हो जाए तो चिड़चिड़ापन, सुस्ती और आलस भी महसूस होता है। इसलिए अपने आहार में हरी सब्जियां, मेवे, राजमा, सलाद को अवश्य शामिल करें। इससे आपके शरीर की इम्युनिटी भी मजबूत होगी। अगर आप मांसाहारी हैं तो मांस, मछली या मीट आदि भी खा सकती हैं। हालाँकि आपके आहार में आयरन की मात्रा संतुलित होनी चाहिए क्योंकि आयरन अधिक होने पर आपको कब्ज की समस्या हो सकती है। जिसके कारण सी-सेक्शन प्रसव के बाद लगने वाले टांके में दबाव पड़ सकता है।

 

#2. सी सेक्शन डिलीवरी के बाद जरूरी है कैल्शियम युक्त आहार (Calcium Rich Food)

प्रसव के बाद महिला की हड्डियां और दांत कमजोर हो जाते हैं। अगर आप स्तनपान करा रही है तब तो आपके शरीर में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा होनी ही चाहिए। इसलिए दूध और दूध से बनी चीज़ों का सेवन अवश्य करें। दूध और दही कैल्शियम का सबसे बड़ा स्त्रोत है इसलिए इन्हें जरूर लें।

 

#3. प्रोटीन से होती है जल्दी रिक्वरी (Protin)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होनी चाहिए इसलिए इनका सेवन आवश्यक करें। स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए तो दालें खाना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि इनसे ऊर्जा भी प्राप्त होती है। प्रोटीन नए टिश्यू के विकास और उपचार प्रक्रिया में मदद करता है। इसके साथ ही बीन्स को भी अपने आहार में शामिल करना न भूलें।

 

#4. फाइबर से भरपूर हो सी सेक्शन के बाद आहार (Fiber)

सी-सेक्शन प्रसव के बाद कब्ज एक बहुत बड़ी समस्या है। कब्ज होने से टांकों में दबाब पड़ सकता है जिससे समस्या और अधिक बढ़ सकती है। यह परेशानी न हो इसके लिए फाइबर युक्त आहार लें जैसे फल और सब्जियां। इसके साथ ही खूब पानी पीएं और तरल पदार्थों को अपने खाने में शामिल करें। नारियल पानी, जूस, लस्सी आदि आपके पाचन प्रक्रिया को दुरुस्त रखने में मदद करेंगे और आपके शरीर में पानी की भी कमी नहीं होगी।

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद खान पान से जुड़ी निम्न बातों को भी विशेषकर ध्यान रखेंः

  • लगातार काफी देर तक भूखा ना रहें।
  • एक बार में खूब सारा खाना ना खाएं।
  • थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खाते रहें।
  • हमेशा हाथ धोकर ही खाना खाएं।
  • अधपका या बासी भोजन ना खाएं।
  • सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कुछ दिन तक बाहर का खाना ना खाएं।

 

सी-सेक्शन प्रसव के बाद ठीक होने में सामान्य प्रसव के मुकाबले थोड़ा अधिक समय लगता है। सी-सेक्शन के बाद अधिक से अधिक आराम करने की सलाह दी जाती है ताकि टाँके और घाव जल्दी ठीक हो सके। इस प्रसव के कई महीनों तक अधिक चलना और कसरत आदि की सलाह भी नहीं दी जाती हैं। ऐसे में किसी ऐसे खाद्य पदार्थ का सेवन न करें जो अधिक भारी हो, जिसे पचाना भी मुश्किल हो या जो सेहत के लिए नुकसानदायक हो।

इसे भी पढ़ेंः सी सेक्शन से जुड़ी अहम जानकारियां

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null

null