छुट्टियों में बच्चो को घर पर ही कैसे व्यस्त रखे?

छुट्टियों में बच्चो को घर पर ही कैसे व्यस्त रखे?

छुट्टियां आते ही कामकाजी माता-पिता को चिंता सताने लगती हैं कि इन छुट्टियों में बच्चों को कैसे व्यस्त रखें जिससे की वह बोर भी ना हो और टीवी कंप्यूटर से भी दूर रहे। आजकल के ज़माने में स्पर्धा बहुत बढ़ गई हैं इसलिए हर कोई चाहता हैं कि वह और उसका परिवार अन्य लोगों से दो कदम आगे चलें| गर्मियों की छुट्टिया बच्चो के लिए तो बहुत आनंदमयी होती हैं लेकिन माता-पिता के लिए सिरदर्द लेकर आती हैं| आप भी चाहती होंगी कि ये छुट्टियाँ यु ही व्यर्थ जाने की बजाये अगर इनका सही उपयोग किया जाए तो ज्यादा अच्छा रहेगा| इसलिए माता-पिता को छुट्टियां आने से पूर्व ही योजना तैयार कर लेनी चाहिए कि इस बार छुट्टियों में बच्चे नया करें ताकि उनकी छुट्टियां यादगार रहे| कुछ माँ-बाप की आर्थिक स्थिति ऐसी होती हैं कि जिससे कारण वह ना तो अपने बच्चों को बाहर घुमाने ले कर जा सकते हैं और ना ही वह किसी कोचिंग क्लास में लगा सकते हैं। इसमें निराश होने की जरूरत नहीं हैं क्योंकि ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनसे आप बच्चो को कुछ नया व अच्छा सिखा सकती हैं व साथ-साथ इस धूप में घर में ही व्यस्त रख सकती हैं| इसे भी पढ़ें: बच्चों का कद बढ़ाने के लिए ५ आसान तरीके

बच्चों को घर पर व्यस्त रखने के आसान उपाय

तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे सरल और मजेदार उपाय जिनसे आप अपने बच्चों को घर पर ही व्यस्त रख सकती हैं और उनकी छुट्टियां मजेदार व यादगार बना सकती हैं।

#1. पेंटिंग

छोटे बच्चों को पेंटिंग करना बहुत अच्छा लगता हैं और उनमें रंग भरना तो और भी अच्छा लगता हैं। इसलिए उन्हें रंग, ब्रश और स्कैच बुक खरीदकर दीजिये। उनको उनकी मर्जी से ड्राइंग बनाने के लिए उत्साहित करें जिससे उनकी कल्पना शक्ति भी बढ़ेगी और समय भी कट जाएगा। यदि बच्चे थोड़े बड़े हैं तो उन्हें कुछ विषय पर अपने विचार लिखने को उत्साहित करें व उन विचारों के साथ कहें की चित्र भी बनाए या फिर चित्रों के माध्यम से अपने विचारों को व्यक्त करें| इससे आपके बच्चे का छिपा हुआ हुनर भी बाहर निकलेगा।

#2. इंडोर गेम्स

छुट्टियों में बच्चो को घर पर ही कैसे व्यस्त रखे? चित्र स्रोत: youtube बच्चों को कुछ ज्ञानवर्धक इंडोर गेम्स खेलने के लिए दें ताकि दोपहर के समय वह घर में ही बैठकर उन गेम को खेलकर अपना समय व्यतीत कर सकें। आप आस-पास के बच्चों को भी उसके साथ खेलने के लिए अपने घर पर बुला सकती हैं। हो सके तो कुछ समय आप भी बच्चे बनकर उनके साथ समय बिताएं| बच्चों को कहे कि कुछ एक्ट करके दिखाएं ताकि सभी एक्ट को समझ कर बताएं, इसमें बच्चों को बड़ा मजा आता हैं।

#3. केक कुकीज बनाना सिखाएं

आजकल के बच्चों को कुकिंग करने का बहुत शौक रहता हैं। उन्हें ऐसी चीजें बनाना सिखाए जो बिना गैस का इस्तेमाल किए बिना बनती हो। इसके अलावा बच्चों को उनके पसंदीदा कुकीज बनाना सिखाएं। उन्हें आप छोटी-छोटी कुकिंग संबंधी जानकारी दे सकती हैं जिससे उनसे थोड़ी मदद मिलेगी, बच्चों को आनंद भी मिलेगा और आपको आराम। आप चाहे तो उन्हें सलाद सजाना, सैंडविच बनाना, नूडल्स बनाना भी सिखा सकती हैं।

#4. कोलाज बनाए

छुट्टियों में बच्चो को घर पर ही कैसे व्यस्त रखे? चित्र स्रोत: bowcase.me बच्चों का दिमाग बहुत एक्टिव होता हैं, वह चीजों को बहुत जल्दी समझते और सीखते हैं। उनकी क्रिएटिविटी निखारने के लिए कोलाज बनाएं इसमें फैमिली फोटो का इस्तेमाल करें| मैंने भी मेरे बेटे से बनवाया था जब वह छोटा था| आप अपने बच्चों से अपने सारे परिवार के सदस्यों के जन्मदिन या सालगिरह का एक चार्ट बनवाएं, इससे उसे सब के जन्मदिन भी याद हो जाएंगे।

#5. बागबानी

छुट्टियों में आप बच्चों को घर के पौधों की देखभाल की जिम्मेदारी दे सकती हैं। जैसे प्रतिदिन पौधों की सफाई, उनमें पानी देना आदि| 1-2 गमलों में बीज भी डलवाए और उन्हें कहें कि प्रतिदिन उन गमलों को देखें कि बीज कैसे फूटते हैं और आगे वे पौधों का रूप कैसे लेते हैं। ऐसे उन्हें उन पौधों से भी प्यार हो जाएगा और प्रकृति के प्रति संवेदनशील भी बनेंगे। इसे भी पढ़ें: सयुंक्त व एकल परिवार में बच्चों के रहने के फायदे व नुकसान

#6. पढ़ना

छुट्टियों में बच्चो को घर पर ही कैसे व्यस्त रखे? चित्र स्रोत: Stay at Home Mum इन छुट्टियो में आप बच्चों में कुछ अच्छा व रोमांचक पढ़ने के लिए भी सोच सकती हैं। उन्हें अच्छे साहित्य, कॉमिक्स, बच्चों की मैगजीन, महापुरुषों कि कहानी और ज्ञानवर्धक पुस्तकों के प्रति प्रेरित करें| इससे उनमे पढने के प्रति रूचि भी बढ़ेगी और शब्दों का भी ज्ञान होगा|

#7. साफ-सफाई के प्रति जागरूकता

कभी-कभी बच्चों को अपने कमरे की सफाई करने हेतु जिम्मेदारी दे और अपनी अलमारी, बुकशेल्फ और खिलौने को साफ करने को कहे। जिससे उनका समय भी व्यतीत होगा और वह सफाई के प्रति जागरुक भी होंगे। यदि घर में काफी जगह हो तो बच्चों को अलग खेलने के लिए कमरा दे ताकि वह बेहिचक खेल सके| खेलने के बाद सामान संभालने की भी आदत उसमे डालें। छुट्टियों में माता-पिता दोनों ही बच्चे को अधिक से अधिक समय दें। ताकि वो भी परिवार की अहमियत को समझ सके और उन्हें अकेलापन ना लगे| उनकी भावनाओं को भी शेयर करें और बच्चों की छुट्टियों के साथ अपनी छुट्टियों का मेल रखें जिससे आप अपने बच्चों के साथ रिश्ता और मजबूत बना सकती हैं। क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null