छोटे बच्चो के लिए घर को सुरक्षित बनाने के 10 तरीके

छोटे बच्चो के लिए घर को सुरक्षित बनाने के 10 तरीके

जब एक बच्चा जन्म लेता है तब माता-पिता की खुशी का ठिकाना नहीं रहता है परंतु खुशी के साथ-साथ उन पर आती है कई सारी जिम्मेदारियों| छोटे बच्चे हर चीज को पकड़ने के लिए और छूने के लिए बहुत लालायित रहते हैं इसलिए माता-पिता को घर पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है| उन्हें इन छोटे-छोटे लेकिन खतरनाक खतरों के लिए घर और घर के बाहर की चीजों का आकलन करने की आवश्यकता होती है| इससे पहले कि बच्चों की उत्सुकता किसी विपदा का कारण बने माता-पिता को पहले ही सुरक्षा के लिए कदम उठा लेने चाहिए|

इसलिए हर माता-पिता को चाहिए कि वह घर पर कुछ ऐसी छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें जो बच्चे के लिए आगे चलकर खतरनाक साबित हो सकती है| तो आइए आज हम जानते हैं इन्हीं छोटी-छोटी चीजों के बारे में जिनसे आपको अपने बच्चों को दूर रखना चाहिए|

घर पर बच्चों का किन चीजों से दूर रखें

#1. घर को सुरक्षित बनाना

बच्चे जब घुटनों के बल चलते हैं तो माता-पिता को ध्यान रखना चाहिए कि कहीं बच्चा चलते-चलते बाहर ना चला जाए या दुर्घटनाग्रस्त ना हो जाए| इसके लिए कमरे के बाहर सुरक्षा गेट लगा दे| अगर कुर्सियो व मेज के किनारे नुकीले या तेज हो तो उस पर नरम पैड या कुशन रखे| हो सके तो गोल या नरम सतह वाली ही मेज खरीदे|

#2. बिना डोरी के पर्दे

अपने घर के पर्दे बिना डोरी के होने चाहिए क्योंकि अगर पर्दे डोरी वाले हैं और डोरी बच्चे के हाथ में आ जाए तो वे उसको खोलने का प्रयास करते हैं और कई बार खोलते-खोलते उसमे खुद को फंसा लेते हैं| जिससे डोरी फांसी का फंदा भी बन सकती है| इसलिए आपको चाहिए कि आप या तो बिना डोरी के पर्दे चुने या फिर डोरी को बच्चों की पहुंच से दूर रखें|

#3. नुकीली चीजें

छोटे बच्चे नाजुक होने के साथ-साथ बहुत शरारती भी होते हैं और उनके दिमाग में नई-नई शरारते आती रहती हैं| इसलिए माता-पिता को चाहिए कि वह नुकीली चीजें जैसे चाकू, कैंची या कोई और ऐसी तरह की चीज़ को बच्चों की पहुंच से दूर रखें ताकि बच्चे इससे अपने आप को या किसी और को नुकसान ना पहुंचा सके|

इसे भी पढ़ें: बच्चों के अंगूठा चूसने के कारण व दूर करने के 5 घरेलु उपाय

#4. जमेटरी बॉक्स

अगर घर में कोई बड़ा भाई, बहन या कोई और पढ़ने वाला हो तो उसकी जमेटरी बॉक्स बच्चों की पहुंच से दूर रखें क्योंकि इसमें कई प्रकार की नुकीली चीजें या रबड़ ऐसी चीजें हो सकती है| क्योंकि बच्चे रबड़ जैसी चीजों को अपनी नाक में फंसा सकता है जो बहुत खतरनाक साबित हो सकती है|

#5. बिजली

छोटे बच्चे बड़े चंचल होते हैं और जब वे बिजली के बोर्ड को देखते हैं तो देखते ही उसमें अपनी उंगली डालने की कोशिश करते हैं जिससे उन्हें बिजली का करंट लगने का डर रहता है| इसलिए माता-पिता को चाहिए कि या तो वे बिजली के सॉकेट बच्चों की पहुंच से दूर रखें या फिर उन्हें खुला ही नहीं छोड़े| इसके अलावा छोटे बच्चे बिजली के उपकरण उठाकर भी नुकसान पहुंचा सकते हैं जैसे चलती प्रेस जिससे बच्चों के जल जाने का भी डर रहता है| इसलिए ऐसे उपकरणों को चलती हालत में ना छोड़ें और इसे बंद करने के बाद भी ऊपर ही रखें जहां तक बच्चे ना पहुंच सके|

#6. बालकनी की ऊंचाई

वैसे तो आपको छोटे बच्चों को थोड़ी देर के लिए भी अकेले नहीं छोडना चाहिए लेकिन किसी कारणवश ऐसा करना पड़े तो इस बात का ध्यान रखें कि बालकनी की ऊंचाई सही हो और ऐसी कोई भी चीज ना हो जिस पर चढ़कर बच्चे बालकनी में झुक सके| हो सके तो बालकनी वाले गेट पर ताला लगा कर रखे|

#7. गर्म चीजे

मान लो आप चाय पी रही है तो बच्चों की आदत होती है उसमें अपना हाथ डालने की| इसलिए बच्चों को गर्म-गर्म चीजों से दूर रखें और इसके अलावा बच्चों को गोद में लेकर माचिस ना जलाएं| अगर आप या आपके घर में कोई सिगरेट पीता है तो जलती सिगरेट उसके सामने न रखें व उसके सामने धूम्रपान भी ना करें|

#8. बाथटब में अकेला ना छोड़ें

वैसे तो बच्चों को कभी भी पानी भरे हुए टब में अकेला छोड़ कर नही जाना चाहिए क्योंकि बच्चों को पानी में छोड़ना या पानी से भरी बाल्टी उनके पास रखना खतरनाक हो सकता है| अगर आपको अपने बच्चे को नहलाते समय बीच में किसी काम से जाना ही पड़े तो उसे तोलिये में लपेट के अपने साथ लेकर जाएं|

#9. खाने पीने की कुछ चीजे

जब बच्चे छोटे हो तो उनके सामने मेज पर अंगूर जैसे छोटे-छोटे फल न रखे और रसोई में मिर्च-मसालों के डब्बे भी बच्चों की पहुंच से दूर रखें| अगर अचार नीचे रखा है तो उसे उठाकर ऊपर रख दे| कांच का कोई बर्तन बच्चों की पहुंच से दूर रखें|

इसे भी पढ़ें: बच्चो की आँखे कमजोर होने के मुख्य कारण व असरदार घरेलु उपाय

#10. कुछ अन्य चीजें

कुछ अन्य चीजों से मतलब जैसे कि फिनाइल, दवाइयां और साबुन आदि भी बच्चों की पहुंच से दूर रखनी चाहिए क्योंकि यह चीजें बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है| इसके अलावा इन बातों का भी विशेष ध्यान रखें कि फर्श, मेज आदि पर छोटी-छोटी चीजें जैसे सिक्के, रिंग्स, ऑलपिन, सुई धागा आदि ना रखे हो क्योंकि बच्चे इन चीजों को देखते ही मुंह में डालने की कोशिश करते हैं|

यह सब देखने और सुनने में छोटी-छोटी बातें हैं परंतु इनका सही समय पर सही ध्यान ना रखा जाए तो यही छोटी-छोटी बातें जानलेवा हो सकती है| इसलिए संभल कर रहे और सुरक्षित रहे|

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null