बच्चों के भविष्य के लिए पैसे निवेश करने के लिए क्या करें

बच्चों के भविष्य के लिए पैसे निवेश करने के लिए क्या करें

क्या एक माता-पिता होने के नाते आपको यह चिंता लगातार सताती रहती है कि आपके पास इतनी जमापूंजी नहीं जिससे कि आप अपने बच्चों के सपनों को पूरा कर सके? हालांकि सच बात तो यह है कि बच्चों की पढ़ाई से लेकर उनके पाठ्यक्रम गतिविधियों का खर्चा आए दिन बढ़ता जा रहा है। आपको इस बात का अवश्य ध्यान रखना होता है कि आपके पास इतने वित्तीय स्त्रोत्र हो जिससे आपके बच्चे का स्कूल, कॉलेज और उसके अन्य शौक जो उसके भविष्य में मदद करते हैं, आप उनको पूरा कर सकें। इसलिये जितना जल्दी आप इसके लिए निवेश करना शुरू कर देंगे उतना ही आपके बच्चों के भविष्य सुरक्षित होगा। आइयें जानें बच्चों के भविष्य के लिए निवेश कैसे करें (How to choose Best investments plans for kids in hindi)? परंतु प्रश्न यह है कि शुरू कहां से करना चाहिए और कौन-कौन से सही रास्ते हैं जिनमें आपको अपने बच्चे के सुरक्षित भविष्य के लिए निवेश करना चाहिए? इस लेख में आपको यही बताया जाएगा कि आपको अपने बच्चे के लिए कब और कैसे निवेश करना चाहिए। जल्दी शुरू क्यों करें? (Why to invest early for your kid’s future) आप जो भी पैसा निवेश करते हैं हर साल कुछ ना कुछ उसमें बढ़ोतरी होती ही है। इसलिए जितना पहले और ज्यादा निवेश करेंगे उतना ही बेहतर रिटर्न भी आपको प्राप्त होगा जैसे कि अगर आप अभी से निवेश करना शुरू कर दें और जब आपका बच्चा 3 साल का हो जायेगा तब इन कुछ सालो में आप अपने बच्चे के लिए अच्छी खासी रकम एकत्रित कर पाएंगे। Also Read: Home Remedies for Fever in Kids

सबसे पहले आपको निवेश करने के लिए एक लक्ष्य तय करना होगा फिर चाहे वह आपके बच्चों की उच्च माध्यमिक शिक्षा के लिए हो या फिर उसकी शादी के लिए। उदाहरण के तौर पर: मुझे 15 साल बाद अपने बच्चे की शिक्षा के लिए 10 लाख रुपयों की आवश्यकता होगी। जब मेरी बच्ची 25 साल की हो जाएगी तो मैं उसकी शादी में 20 लाख खर्चना चाहती हूं। इस हिसाब से आपको अपने लक्ष्य का वर्तमान मूल्य, महंगाई की दर और जिस प्रकार का निवेश आप करना चाह रहे हैं उससे आपको कितना रिटर्न मिल सकता है, इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए आप निवेश सकते हैं। अगर आप निवेश करने में कुछ साल की देरी कर देते हैं या लेट शुरू करते हैं तो आपको बाद में हर महीने ज्यादा निवेश करना होगा जिससे कि आप सोची गई राशि प्राप्त कर सके और अपना लक्ष्य पूरा कर सके। इसलिए बेहतर यही होगा कि आप जितना जल्दी हो सके शुरू कर दे। Also Read: Best Food to Increase WBC During Dengue  

अपने बच्चे के लिए निवेश की शुरुआत (How to choose Best investments plans for kids in hindi) एक सर्वे के मुताबिक 2007 से लेकर 2018 तक कॉलेजों के मैनेजमेंट कोर्सेज ने 400% छलांग लगाई है। शादी ब्याह का खर्चा भी पहले के मुकाबले ज्यादा हो गया है। आपके बच्चों को अच्छे से अच्छी शिक्षा देने के लिए जरूरी है कि आप पहले दिन से ही पैसा बचाना शुरू कर दें। आइए जानते हैं कुछ ऐसे बेहतर विकल्प जिनमें निवेश करने से आप अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं: #1. पीपीएफ (PPF) यह 15 साल के समय के लिए होता है। इसमें आप लगातार 1.5 लाख रुपए हर साल तक निवेश कर सकते हैं और अगर आपने पीपीएफ करा रखी है तो आप टैक्स में भी छूट ले सकते हैं इसमें ब्याज दर अभी 7.9 % चल रहा है जो कि अन्य बैंकों से ज्यादा होता है। इसमें जो ब्याज आपको मिलता है वह टेक्स मुक्त होता है। #2. गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) अगर आप अपने बच्चे के लिए लंबे समय के लिए निवेश करना चाहते हैं तो ईटीएफ निवेश एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। गोल्ड ईटीएफ या एक्सचेंज ट्रेडेड फंड में आपको सोना खरीदने या बैंक में रखने की जरूरत नहीं होती है। आप इसमें हर महीने छोटी मात्रा में भी निवेश कर सकते हैं। हालांकि इसमें सोना का भाव टूटने का रिस्क होता है परंतु इसमें अगर आप 10 साल या उससे अधिक समय तक निवेश करते हैं तो आप अच्छी राशि प्राप्त कर सकते हैं। #3. बैंक एंड फिक्स डिपॉजिट (Bank and Company Fixed Deposit) अगर आप अपना पैसा बैंक में ही रखना चाहते हैं तो यह तरीका आपके लिए सही है। सावधि जमा का ब्याज दर समय-समय पर बदलता रहता है। हमेशा सावधि जमा लंबे समय के लिए तभी बनवाए जब इसका ब्याज दर ज्यादा हो। एक अच्छा विकल्प यह भी रहेगा कि आप आवर्ती जमा भी अपने बच्चे के लिए खुलवा सकते हैं जिसमें आप एक निश्चित समय के लिए निश्चित राशि हर महीने उस अकाउंट में ट्रांसफर कराएंगे और जब इसका समय पूरा हो जाए तो आप उस राशि को सावधि जमा में लगा सकते हैं। #4. म्यूच्यूअल फंड सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Mutual Funds Systematic Investment Plans) जब आपका बच्चा थोड़ा बड़ा हो जाए तब आप अच्छे से अच्छे म्यूच्यूअल फंड्स में हर महीने भरने वाली एसआईपी में निवेश कर सकते हैं। आप इक्विटी फंड से शुरुआत करते हुए जैसे-जैसे आपका बच्चा बड़ा होता जाए उसे कम रिस्क वाले डेट फंड में स्विफ्ट भी करा सकते हैं। इसमें आप वित्तीय सलाहकार की मदद भी ले सकते हैं जो आपको सही निवेश विकल्प चुनने में मदद करेगा।     सही इन्वेस्टमेंट प्लान को कैसे चुने (Tips to Choose Best Investment Plans for Kids in Hindi) आइए जानते हैं कुछ ऐसी आसान टिप्स जिनसे आप एक स्मार्ट और सुरक्षित इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं: #1. अपने टाइम फ्रेम को समझें (Understand the timeframe that you have) आप किस इन्वेस्टमेंट लैंड को चुन रहे हैं यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको वह राशि कब चाहिए। अगर आपके पास 10 से 12 साल तक का समय है तो आप गोल्ड ईटीएफ बोंस या फिर इक्विटी फंड्स के साथ जा सकते हैं और अगर आपके पास 5 से 6 साल का समय है तो आप डेट फंड और आवर्ती जमा में भी निवेश कर सकते हैं। #2. जाने कि आप कितना रिस्क उठा सकते हैं (Understand your risk appetite and invest accordingly) जानिए कि आप कितना रिस्क उठा सकते हैं और उसी के मुताबिक ही निवेश करें। अगर आप जीवन के उस पड़ाव पर है जहां आप ज्यादा रिस्क उठा सकते हैं तो आपके लिए इक्विटी ज्यादा बेहतर विकल्प होगा जिसमें ज्यादा रिटर्न्स की संभावना होती है। अगर आप चाहते हैं कि भविष्य में आपको यह फंड जल्द से उपलब्ध हो जाए तो आप एफडी और लिक्विड म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, बैंक एफडी, एक अच्छा बचत विकल्प है, भले ही वे आपको अन्य निवेश विकल्पों के रूप में मुद्रास्फीति समायोजित रिटर्न न दें। #3. अपने निवेश पर हमेशा ध्यान दें (Keep an eye on your investment) हर साल अपने निवेश के पोर्टफोलियो पर नजर डालें। कभी-कभी ब्याज का दर ज्यादा या कम हो जाता है। इसलिये ध्यान रखें कि आपका निवेश आपके लक्ष्य तक जरूर पहुंचे। अगर आपकी तनख्वाह में बढ़ोतरी होती है तो आप इसका उपयोग निवेश करने में भी कर सकते हैं। #4. अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अलग-अलग जगहों पर निवेश करें (Invest in different asset classes to reach your goal) हमेशा अलग-अलग जगहों पर ही निवेश करें जिससे आपको अपने लक्ष्य तक पहुंचने में मदद मिलेगी। हमेशा एक ही तरह के निवेश प्लान पर ना अटके रहे जितना अलग-अलग जगह पर आप निवेश करेंगे उतना ही आपके लिए अच्छा होगा। आप म्यूचुअल फंड, शेयर बाजार, बोंडस, गोल्ड, प्रॉपर्टी, एफडी आदि में निवेश कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप पहले से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। यदि आप चाहें तो टर्म इंश्योरेंस की मदद भी ले सकते हैं जिसमें आप अपने बच्चे की पढ़ाई का खर्चा उठा सकेंगे। इसके अलावा निवेश विकल्पों को अच्छे से समझने के लिए आप वित्तीय सलाहकार की मदद भी ले सकते हैं।
क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null