बच्चों के लिए चांदी के बर्तन में खाना खाने के 7 फायदे

बच्चों के लिए चांदी के बर्तन में खाना खाने के 7 फायदे

चांदी सिर्फ आभूषण के तौर पर ही कीमती नहीं है बल्कि चांदी हमें स्वस्थ रखने में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है। पुराने जमाने में लोगे चांदी के बर्तन या केले के पत्तों में भोजन करते थे। चांदी के बर्तन में खाने वाले लोग शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से काफी स्वस्थ रहते हैं। जो बच्चे हमेशा चांदी के बर्तनों (Eating In Silver Vessels) में खाना खाते हैं वह खास कर पेट से जुड़ी बहुत कम बीमारियों की चपेट में आते हैं। बच्चों को चांदी के बर्तन में खाना खिलाने के फायदे (chandi ke bartan mein khane ke labh) जानने के लिए यह लेख पूरा अवश्य पढ़ें। हम चाहे कितनी भी साफ-सफाई रख लें लेकिन फिर भी थोड़ी बहुत गंदगी अपने आप ही आ जाती हैं। खासकर बच्चे ज्यादातर मिट्टी में खेलना पसंद करते हैं जिसके चलते वह अपने साथ कई तरह के कीटाणु ले आते हैं। चांदी के बर्तन में खाना खाने से हम छोटे-छोटे कीटाणुओं से बच जाते हैं। चांदी के बर्तन 100 प्रतिशत कीटाणु रहित होते हैं। इसलिए बच्चों को हमेशा चांदी के बर्तन में खिलाना चाहिए जिससे वह संक्रमण का शिकार ना हो लेकिन ध्यान रहे कि चांदी के बर्तन में खाना खिलाने से पहले उन्हें अच्छी तरह साफ कर ले। राजघरानों में तो आज भी चांदी के बर्तन में खाना खाया जाता है। आज भी छोटे बच्चों को चांदी के गिलास, कटोरी और चम्मच में रखकर खाना खिलाया जाता हैं। चलिए अब जानते हैं बच्चों को चांदी के बर्तन में खाना खिलाने के फायदे व स्वास्थ्य लाभ इसे भी पढ़ें: बच्चों में दिमागी शक्ति बढ़ाने के 10 मुख्य आहार

बच्चों के लिए चांदी के बर्तन में खाने के फायदे व स्वास्थ्य लाभ (Heath Benefits Of Eating In Silver Vessels for Kids in Hindi)

#1. शरीर में ठंडक देना

चांदी का सबसे बड़ा फायदा यह हैं कि यह शरीर को ठंडक देता है। जिस तरह चांदी के ज्वैलरी पहनने से शरीर को ठंडक मिलती है और गुस्सा शांत रहता हैं, उसी तरह चांदी के बर्तन में रखी चीजें खाने से भी शरीर को ठंडक मिलती हैं। गर्मी के मौसम में बच्चों को चांदी के गिलास में दूध पिलाने से या खाना खिलाने से बहुत फायदा मिलता हैं। इसके अलावा बच्चों को दवाई पिलाने के लिए भी चांदी की चम्मच का इस्तेमाल आप कर सकती हैं।

#2. कीटाणु रहित

चांदी हमेशा कीटाणु रहित एवं संक्रमण रहित होती हैं। इस के बर्तनों का उपयोग हमें कई बीमारियों से बचाता है और शुद्धता प्रदान करता हैं। इसलिये चांदी शुद्धता का प्रतीक मानी जाती हैं।

#3. फिल्टर का काम करती हैं चांदी

चांदी के बर्तन में पानी, दूध या कोई और तरल पदार्थ रखने से उनमें ताजापन आता हैं। पहले समय में पानी साफ करने के लिए फिल्टर नहीं होते थे, ऐसे में लोग पानी को साफ और शुद्ध रखने के लिए चांदी के बर्तनों का इस्तेमाल करते थे। आज भी कई जलपरी शोधकों में उपरोक्त गुणों की वजह से चांदी शामिल किया जाता हैं।
इसे भी पढ़ें: गर्मियों के मौसम में 13 जूस व उनके फायदे

#4. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं

चांदी के बर्तन में खाना खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं। हम आमतौर पर अपने घरों में जिन बर्तनों का इस्तेमाल करते हैं उनका खाना बनाते वक्त कुछ न कुछ अंश भोजन में मिल जाता हैं। बच्चों का इम्यून सिस्टम बड़ों के जितना मजबूत नहीं होता हैं जिसके चलते खाना खाने से बच्चे बीमार पड़ सकते हैं। जबकि चांदी के बर्तन में ऐसा नहीं होता हैं। इन बर्तनों में खाना खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं।

#5. पित्त दोष दूर होता हैं

चांदी के गिलास में पानी पीने से सर्दी व जुखाम की समस्या दूर होती हैं। वहीं चांदी के बर्तनों का प्रयोग पित्त बढ़ने की समस्या या पित्त दोष को दूर करने में बेहद प्रभावी होता हैं।

#6. दिमाग का विकास

चांदी के बर्तन में भोजन करना दिमाग के लिए फायदेमंद होता हैं। यह दिमाग को शांत रखकर याददाश्त को बढ़ाने में मदद करता हैं।

#7. आखो के लिए फायदेमंद

यह आंखों की समस्याओं से भी निजात दिलाता हैं। आखो में किसी प्रकार के संक्रमण से भी राहत मिलती हैं। जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है उन्हें भी चांदी के संपर्क में रहने की सलाह दी जाती हैं। इसे भी पढ़ें: अब घर पर ही बनाइये सेरेलक व जानिए उसके फायदे

बच्चों को चांदी के बर्तन में खाना देते समय ध्यान रखने योग्य बातें

बच्चों के जीवन में चांदी के बर्तन में खाना खाने के 7 मुख्य फायदे

चित्र स्रोत: jugantor.com

  • चांदी के बर्तन (Chandi ke Bartan) खरीदते समय ध्यान रखे कि वो गोल आकार में हो, जिससे बच्चे अपने आप को चोट न पहुंचा सके।
  • इनके बर्तनों को गर्म पानी में रखने की भी आवश्यकता नही हैं। बस जैसे आप बाकि बर्तन धोती हैं, वैसे ही धोकर रख दे।
  • सिंपल चांदी के बर्तन खरीदे न कि ज्यादा डिजाईन वाले, इससे इनको साफ़ करने में आसानी होगी।
  • अच्छी व बड़ी दुकान से ही चांदी के बर्तन खरीदे, इससे उसमे मिलावट से आप बच पाएंगी।
क्या आप जानते हैं कि सिर्फ भोजन का संतुलन और पौष्टिक होना ही आवश्यक जरुरी नहीं है बल्कि भोजन करने के लिए आप जिन बर्तनों का इस्तेमाल करती हैं उनका असर भी आपकी सेहत पर पड़ता हैं। इसलिए घर के बुजुर्ग हमेशा घर के नए मेहमानों को खिलाने पिलाने के लिए चांदी के बर्तन ही काम में लेने की हिदायत देते हैं क्योंकि चांदी शरीर के तापमान को ठंडा बनाए रखती है और हमें ऊर्जा प्रदान करती हैं। इसलिए बर्तन का चयन हमें बहुत सोच समझ कर करना चाहिए। क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने। यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे।

null