बच्चों के बालों में जुओं से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

बच्चों के बालों में जुओं से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

बालों में जुएं (Lices) होना एक आम समस्या है। ऐसे तो जुएं किसी को भी और किसी भी मौसम में हो सकती है परंतु गर्मी व बरसात के मौसम में यह अधिक होती हैं क्योंकि गर्मी या बरसात के मौसम में हमारे सिर में अधिक गन्दगी रहती है। जैसे ही बरसात का पानी या पसीना इन बालों पर लगता है तो इनमें जुएं पैदा हो जाते हैं। बच्चों के बाल तो जुओं के पैदा होने के लिए आदर्श होते हैं। जुओं के होने से बच्चे चिडचिडे हो जाते हैं और किसी चीज पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते हैं। छोटे बच्चों के लिए तो यह जुएं और भी परेशान करने वाले होते हैं। आइये जानें बच्चों के बालों से जुएं दूर करने के आसान उपाय (Home Remedies of Lices)।

बच्चों के बालो में जुएं होने के कारण (Causes of Lices in Hindi)

सिर में जुएं पड़ने का कारण सिर्फ गंदगी ही नहीं होता बल्कि कई बार हम बच्चों के सिर को बिलकुल साफ रखते हैं और फिर भी सिर में जुएं पड़ जाती है। इसकी कुछ सामान्य वजहें निम्न हैंः

#1. जूँ एक इंसान से दूसरे इंसान के सिर में बड़ी तेजी से चली जाती है। किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आने से यह जल्दी फैलती है जिसके सर में जूं हों।
#2. जुएं वाले व्यक्ति की कंघी, कपडे, बिस्तर या तकिया इस्तेमाल करने के कारण।
#3. ऐसे बच्चों के साथ खेलना या सोना जिनके बालों में जुए पडे हों।
#4. गंदे बालों पर बार-बार पानी लगाना।
#5. बालों को काफी दिनों बाद धोना।
#6. मिट्टी में लगातार खेलना।

क्या होती है जूँ?

जूं एक कीड़ा होता है जो हमारे सर में बालों की जडों से रक्त चूस कर जिंदा रहता है। अंग्रेजी में इन्हें पेरासाइट कहते हैं। एक जूँ एक महीने में 50 से 100 अंडे दे सकती है और तो और 10 दिन में यह अंडे भी जूँ का रूप ले लेती है, हमारा खून इनके लिए पोषण का काम करता है।

इसे भी पढ़ें: बच्चो के लिए नारियल तेल के 10 मुख्य फायदे जानिए

 

बच्चों के बालों में जुओं से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय (Home Remedies of Lices in Hindi)

अगर आपके बच्चे के सिर में भी अक्सर जुएं पड़ जाती है और वह पूरी तरह इससे परेशान हो चुका है तो आप यह घरेलू उपाय (Juye ke Gharelu Upay) जो बेहद आसान हैं और इनके कुछ साइड इफेक्ट भी नहीं है को अपना सकती है|

#1. कपूर और नारियल तेल

कपूर को जुए खत्म करने का सबसे उत्तम उपाय माना जाता है क्योंकि कपूर की तेज खुशबू से जुओं का दम घुट जाता है और वे मर जाती है। मर जाने के बाद किसी कंघी की मदद से मरी हुई जूएं निकाल दें। यह उपाय बहुत ही सस्ता व असरदार होता है। गांवों में आज भी लोग यही नुस्खा अपनाते हैं। इसके लिए नारियल के तेल में दो से तीन टुकडे कपूर के डाल कर कुछ देर रख दें। जब कपूर नारियल में मिक्स हो जाए तो बालों पर लगा दें। आप कपूर को बारिक पीसकर भी नारियल के तेल में मिला सकते हैं।

#2. प्याज या मूली का रस

प्याज को पीसकर उसका रस निकाल लें। अब इस रस को 10 मिनट तक बालों में लगाकर रखने से जुओं का दम घुटने लगता है और वह मर जाती है। आप प्याज के स्थान पर मूली का भी प्रयोग कर सकती हैं।

#3. नीम

नीम का प्रयोग करने से भी जुएं खत्म होती हैं। नीम के एंटी-बैक्टीरियल गुण जुओं को मारने में काम आती है। इसके लिए नीम की पत्तियों को पानी में अच्छे से उबाल लें। उसके बाद पानी को ठंडा कर इससे बच्चे को नहलाएं। इसे और असरदार बनाने के लिए आप इसमें नीम का तेल या तुलसी की पत्तियों को पीसकर अच्छे से मिलाकर नहला भी सकती हैं। इसके अलावा तुलसी और नीम के पत्तों का मिश्रण को सिर में लगाकर आधे घंटे तक रखने और उसके बाद पानी से धो लेने पर भी जुओं से छुटकारा मिलता है।

इसे भी पढ़ें: बच्चों का मुंडन कब और क्यों करवाएं और इसके 5 लाभ

#4. लहसुन और नींबू

लहसुन में मौजूद गुण जुओं को समाप्त करने और नींबू का रस इनके अंडों को समाप्त करने के काम आता है। इसके लिए लहसुन की कुछ कलियों को पीसकर उसमें नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को बालों में लगा दें और 20 से 30 मिनट तक लगा कर रखें और सिर को किसी कपड़े से ढक ले। उसके बाद सिर को अच्छे से शैंपू से धो लें। इसे हफ्ते में दो बार करने पर अवश्य राहत मिलेगी।

#5. बादाम

आयुर्वेद के अनुसार बादाम जुओं को मारने में काफी कारगर है। इसके लिए कुछ बादाम पहले भिगो दें फिर उन को पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट में नींबू की कुछ बूंदें मिलाकर खोपड़ी में अच्छे से लगाएं। ऐसा करने से जुएं मर जाती है।

#6. पेट्रोलियम जेली

पेट्रोलियम जेली का प्रयोग वैसे तो हम रूखी त्वचा के लिए करते हैं लेकिन इसमें ऐसे गुण भी पाए जाते हैं जो जुओं को नष्ट कर देते हैं। इसके लिए बालों पर रात के समय पेट्रोलियम जेली लगा दें और सुबह उठकर बालों को धोने से पहले अच्छे से कंघी करके मरी हुई जुओं को निकाल दें। इससे बच्चे को काफी राहत मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: बच्चों के अंगूठा चूसने के कारण व दूर करने के 5 घरेलु उपाय

जूं होने पर और क्या करें?

यदि आपके बच्चों के सिर में जुएं पड़ गई हो तो उसके सिर का विशेष ख्याल रखें। ऐसे में आप अपने बच्चों को भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र में ले जाने से बचें क्योंकि एक तो किसी अन्य को जुए होना का डर रहता है और दूसरा आपके बच्चे को शर्मिंदगी भी महसूस होती है। जुएं होने पर कई बार बालों में खुजली इतनी ज्यादा होती है कि बच्चों के सिर में खुजली करते-करते गहरे घाव हो जाते हैं जिससे गंभीर समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसलिए यह जरूरी है कि इन जुओं का सही समय पर इलाज किया जाए। अगर इन घरेलू उपायों के बाद भी कोई असर ना दिखें तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null