बच्चो में 5 तरह की एलर्जी व उनको कैसे पहचाने?

बच्चो में 5 तरह की एलर्जी व उनको कैसे पहचाने?

एलर्जी कई प्रकार की होती है जैसे नाक, आंख, गला, त्वचा या खान-पान से संबंधित| इनके अलावा एलर्जी मौसम के बदलने से, धूल, मिट्टी धुआ के कारण, जानवरों के संपर्क से आने से, मधुमक्खी या पीली मक्खी के काटने से भी एलर्जी हो सकती है| कभी-कभी खाद्य पदार्थों से या फिर कुछ अंग्रेजी दवाइयों के उपयोग से भी एलर्जी हो सकती है| एलर्जी किसी भी प्रकार से, किसी भी मौसम में व अनुवांशिकता से भी हो सकती है परंतु बरसाती मौसम में इसके होने की संभावना बढ़ जाती है| कई बार एक साथ पूरे शरीर में होने से यह एक गंभीर रूप ले सकती है| एलर्जी बड़ों की अपेक्षा बच्चों में होने की संभावना ज्यादा होती है क्योंकि बच्चे बड़ों की तरह साफ-सफाई नहीं रख पाते हैं और ना ही इतने सतर्क होते हैं| इसलिए माता-पिता की जिम्मेदारी होती है कि बच्चों में कोई भी ऐसा एलर्जी के लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं|

बच्चों में एलर्जी को कैसे पहचाने?

#1. आंखों की एलर्जी

आंखों का बार-बार लाल होना, आंखों से पानी आना, उनका सूजना या आंखों के आसपास खुजली होना यह सब एलर्जी के आम लक्षण हो सकते हैं| अगर आपको अपने बच्चों में यह लक्षण दिखे तो आप अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें|

#2. नाक की एलर्जी

बच्चों को सर्दी जुकाम होना आम बात है| इससे बच्चों की नाक रुकना व छींके आना होता रहता है परंतु इनके साथ नाक में खुजली होना सामान्य नहीं होता है| अगर आपका बच्चा बार-बार अपनी नाक रगड़ता है तो उसकी नाक में एलर्जी हो सकती है और इसी वजह से उसकी नाक भरी रहती है| इस कारण वह बार-बार छींके भी मारता है| यह समस्या ज्यादातर धूल-मिट्टी के कारण होती है या किसी चीज की गंध से भी हो सकती है| इसे भी पढ़ें: बच्चो में सर्दी व जुखाम के लिए 13 घरेलु नुस्खे

#3. त्वचा की एलर्जी

त्वचा संबंधी समस्या भी एलर्जी का एक लक्षण हो सकता है| त्वचा में खुजली होना, लाल चकते होना, सूजन होना, खारिश होना या जलन होना आदि एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं| एलर्जी बच्चों में कोहनी और घुटने जैसे अंगो पर ज्यादा होती है| वहां की त्वचा पर लाल रंग के चकते हो जाते हैं और कई बार बच्चों की आंखों के आसपास भी चकते हो जाते हैं| ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब बच्चे किसी दूसरी गंदी चीज को छू लेते हैं जिससे उसके कीटाणु बच्चो की त्वचा में प्रवेश कर जाते हैं और उनको उससे एलर्जी हो जाती है|

#4. गले की एलर्जी

जब भी बच्चों में पहली बार कफ के लक्षण दिखाई दे तो यह बात मान ली जाती है कि यह एक वायरस है परंतु अगर यह कफ की समस्या बच्चों में बार-बार हो व जल्दी से ठीक ना हो और फिर वापस हो जाए तो यह बच्चे के गले में एलर्जी के कारण होता है| एलर्जी में होने वाला कफ ज्यादातर सुखा होता है| इसे भी पढ़ें: बच्चो में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के 10 मुख्य आहार

#5. अनुवांशिक एलर्जी

कई बार बच्चों को अनुवांशिक कारणों से एवं परिवार के कुछ लोगों को एलर्जी के कारण अस्थमा हो सकता है| सांस लेने में दिक्कत होना, फेफड़े में सूजन होना, जलन होना एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं| बारिश के मौसम में कई बार दाने निकलना भी एलर्जी के लक्षण है| इसलिए बच्चों में किसी भी प्रकार की एलर्जी के लक्षण दिखने पर उसके कारणों का जानने का प्रयास करें और साथ ही तुरंत अपने डॉक्टर से भी संपर्क करे| क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null