बच्चों में दस्त को दूर करने के लिए 10 घरेलू उपाय

बच्चों में दस्त को दूर करने के लिए 10 घरेलू उपाय

नवजात शिशु में दस्त की शिकायत होना एक आम बात हैं लेकिन इसका लंबे समय तक रहना एक गंभीर स्थिति पैदा कर सकता हैं। बच्चों में दस्त लगने की समस्या को डायरिया भी कह सकते हैं व्यस्क व्यक्ति को दस्त हो तो वह एक सीमा तक सहन कर सकता हैं लेकिन बच्चे ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि उनका शरीर पहले ही पूरी तरह विकसित नहीं होता है और ऊपर से ऐसे में उनको कोई रोग हो जाए तो उनका शरीर और कमजोर हो जाता हैं। इसलिए हम आपको प्राथमिक उपचार के आधार पर कुछ ऐसे दस्त रोकने के घरेलू उपाय (bache ke dast ke gharelu upay) बताने जा रहे हैं जिनके जरिए आप अपने बच्चों के दस्त का इलाज कर सकेंगी। बच्चों में दस्त के कारण (Causes of diarrhea or Dast in Kids) दस्त एक रोटावायरस के संक्रमण में आने से होता हैं| यह विषाणु हमारी व छोटे बच्चों की आंतड़ियों पर हमला करता है और उनकी आंत की अंदर की परतों को नुकसान पहुंचाता हैं और इससे परत के क्षतिग्रस्त होने से तरल पदार्थ का रिसाव होने लगता हैं|

दस्त के कारण

  • फार्मूला दूध से
  • ज्यादा सर्दी जुकाम होने से
  • एंटीबायोटिक्स की वजह से
  • एलर्जी की शिकायत
  • साफ-सफाई से भोजन नहीं करने से
  • भोजन बासी या खराब होने से
बच्चों में दस्त ज्यादातर साफ-सफाई पर ध्यान ना देने से होते हैं क्योंकि बच्चे कहीं भी पड़ी हुई चीज को मुंह में ले लेते हैं| इसी वजह से उन्हें दस्त लगने की संभावना ज्यादा रहती हैं। बच्चों में दस्त होने पर आप निम्न दस्त रोकने के घरेलू उपाय (bacho ko dast rokne ke upay) अपना सकती हैंः इसे भी पढ़ें: बच्चों के नाक से नकसीर आने के कारण व 10 घरेलु उपाय

दस्त रोकने के घरेलू उपाय (Bachcho mein Dast rokhne ke Gharelu Upay)

#1. जायफल

बच्चों में दस्त को दूर करने के लिए 10 घरेलु उपाय चित्र स्रोत: khabarindiatv.com जायफल के एक चौथाई पाउडर को गुनगुने हल्के गर्म पानी के साथ बच्चे को दिन में दो से चार बार दें। इससे आपके छोटे बच्चे के दस्त रोकने में काफी लाभ मिलेगा।

#2. बेलगिरी

बेल के गूदे को दिन में तीन-चार बार  खिलाने छोटे बच्चे के दस्त में आराम मिलता हैं। यह उपाय खासकर गर्मी के मौसम में ज्यादा कारगर होता हैं जब बच्चे को गर्मी के मौसम में दस्त लगे हो या गर्मी की वजह से लगे हो।

#3. अनार का छिलका

अनार के छिलके का पाउडर बना लें और जब भी छोटे बच्चे के दस्त लगे हो तो इस पाउडर में शहद मिलाकर बच्चे को चटाए। यह आसान नुस्खा दस्त को रोकने में बहुत मददगार होता हैं। साथ में बच्चे को अनार का रस दिन में तीन से चार बार पिलाएं| यह डिहाइड्रेशन के खतरे को भी कम करेगा और कमजोरी भी नहीं आने देगा। बच्चों की दस्त को रोकने का यह सबसे प्रभावी और असरदार तरीका होता है।

#4. सौंफ

बच्चों में दस्त को दूर करने के लिए 10 घरेलु उपाय चित्र स्रोत: NDTV Foods यदि दस्त में थोड़ा-थोड़ा मल आता हो तो 3 ग्राम कच्ची और 3 ग्राम भुनी हुई सौंफ लेकर उसे पीस लें और उसमें मिश्री मिलाकर लेने से भी दस्त जल्दी बंद हो जाते हैं। सौंफ के पाउडर और बेलगिरी दोनों को एक गिलास पानी में मिलाकर शिशु को आधे घंटे के अंतराल में पिलाते रहें।

#5. लस्सी

एक गिलास छाछ या लस्सी में 12 ग्राम शहद मिलाएं और दिन में तीन बार पिलाएं। यह पतले दस्त (Dast) रोकने में बहुत लाभकारी होता हैं। अगर बच्चा ज्यादा छोटा है तो सर्दियों में लस्सी ना दें अगर देना भी हो तो इसे केवल दिन के समय धूप में ही दें।

#6. सेब

बच्चे को सेब साइडर सिरके का सेवन करवाएं। इससे पेट को ठंडक मिलती हैं व इसमें दस्त के वायरस से लड़ने की क्षमता भी होती हैं। सेब का सिरका आपको केमिस्ट के अलावा घर के आसपास किसी सुपर मार्केट में भी मिल सकता है। सेब के सिरके को पानी में मिलाकर ही दें क्योंकि सिरका अम्लीय होता है जिसे पानी में ना मिलाने से पेट को नुकसान पहुंचा सकता है।

#7. केला

केला और सिरका दोनों में पेकिटन पाया जाता हैं। यह आंत की परत को मजबूत करता है जिससे दस्त लगने बिल्कुल बंद हो जाते हैं। इसलिए सेब के सिरके के साथ केले का भी सेवन अपने बच्चों को करवाएं। केला दस्त रोकने के लिए लंबे समय से भारत में प्रयोग होता है। इसे भी पढ़ें: शिशु के रोने के कारण व शांत कराने के ५ असरदार उपाय

#8. दूध

बच्चों में दस्त को दूर करने के लिए 10 घरेलु उपाय चित्र स्रोत: Dr Blog आधा गिलास कच्चा दूध लें और उसमें एक नींबू निचोड़कर अपने बच्चे को पिलाये| एक बात का ध्यान रहे कि दूध फटने से पहले ही आपको यह अपने बच्चे को पिलाना हैं|

#9. नींबू

एक गिलास पानी में एक नींबू का रस डालें और स्वादानुसार नमक डालकर और चीनी मिलाकर पीने से भी राहत मिलेगी|

#10. मेथी

मेथी के दानों को पानी में भिगो ले| जब इनमें पानी भर जाए तो दिन में तीन से चार बार मेथी दानों को दही में मिलाकर बच्चों को खिलाएं| दही और मेथी के दाने बच्चा जितना एक बार में ले सके उतना ही दे| दस्त के कारण हजारों लोग हर साल मर जाते हैं, इसका प्रमुख कारण है शरीर में पानी की कमी होना। बच्चों को जितना हो सके पानी पिलाये क्योंकि बच्चा जितना पानी पिएगा उतना ही जल्दी ठीक होगा। लगातार दस्त होने पर बच्चों के शरीर में कमजोरी आ जाती हैं| साथ में शरीर में सोडियम की कमी हो जाती हैं। इससे बचने के लिए थोड़ी सी चीनी और जरा सा नमक एक गिलास पानी में मिलाकर बच्चों को दिन में तीन से चार बार पिलाएं| से भी पढ़ें: क्या बच्चों की आँखों में काजल लगाना ठीक हैं? अगर आपका बच्चा अभी स्तनपान करता हैं तो बेहतर होगा आप दस्त के समय स्तनपान ही करवाएं। साथ में उसे ओ.आर.एस. ग्लूकोस आदि का सेवन करवाते रहें ताकि उसे डिहाइड्रेशन का खतरा ना हो। अगर आपका बच्चा फलों का रस पी लेता है तो उसे दस्त के समय ज्यादा से ज्यादा फलों का रस दें। इस तरह आप बच्चों के दस्त रोकने के घरेलू उपाय (dast ke gharelu upay) को अपनाकर दस्त का इलाज घर पर ही कर सकती हैं| अगर बच्चे को फिर भी तकलीफ हो रही है तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए क्योंकि नवजात शिशु मुंह से बोलकर हमें नहीं बता सकते कि उन्हें क्या तकलीफ हो रही हैं| इसलिए आराम ना मिलने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें| क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null