बच्चो की आँखे कमजोर होने के 10 लक्षण

बच्चो की आँखे कमजोर होने के 10 लक्षण

वैसे तो हमारे शरीर के सभी अंग बहुत खास होते हैं परंतु यदि आँखों की बात की जाए तो वह बहुत ही नाजुक अंगों में से एक होती हैं| अगर इसका ख्याल सही से ना रखा जाए तो छोटी सी परेशानी जिंदगी भर के लिए तकलीफ बन सकती हैं| पहले बच्चे अपना बचपन दादी-नानी की कहानियां सुनकर बिताते थे लेकिन आजकल बच्चों का बचपन टीवी, मोबाइल और कंप्यूटर के साथ ज्यादा बितता हैं जिसका सीधा असर बच्चों की आंखों पर पड़ता हैं| बच्चों के शरीर की तरह उनकी आंखें भी बहुत कोमल होती हैं| यदि आपको लगता हैं कि आपके बच्चे की आंखें कमजोर हैं तो आप पता लगाने के लिए नीचे दिए गए लक्षणों पर ध्यान दें| यदि इनमें से कुछ लक्षण (Ankhen Kamjor Hone ke Lakshan) आपके बच्चे में मौजूद हैं तो आप तुरंत उसकी आंखों का चेकअप करवाएं|

आजकल के बच्चे अपने शरीर को हिलाना-डुलना ज्यादा पसंद नहीं करते हैं और कई बार तो दवा लेने के डर से समस्या को भी बताने से बचते हैं परंतु मां बाप होने के नाते आपका कर्त्तव्य हैं कि आप अपने बच्चों की सेहत का पूरा ध्यान रखें| इसलिए साल में एक बार अपने बच्चों के शरीर की पूरी जांच करा लिया करें|

बच्चों में आँखे कमजोर होने के 10 लक्षण (Bachho Ki Aankhen Kamjor Hone ke Lakshan)

#1. सिर दर्द

ऐसे तो सिर दर्द के कई कारण हो सकते हैं परंतु यदि बच्चा टीवी देखते समय, पढ़ाई करते समय या कोई और नजर वाला काम करते समय सिर दर्द की बात करें तो समझ ले कि उनकी आंखें कमजोर हो सकती हैं और उन्हें इलाज की जरूरत हैं|

#2. आंखों का मलना

ऐसे तो बच्चों को नींद में अपनी आंखें मलने की आदत होती है परंतु यदि बच्चा दिनभर अपनी आंखों को मलता रहे और किसी भी चीज को देखने के लिए आंखों को आगे करके अतिरिक्त जोर लगाए तो यह कमजोर आंखों की निशानी हैं|

इसे भी पढ़ें: बच्चों में दिमागी शक्ति को बढ़ाने के लिए 10 मुख्य आहार

#3. आंखों में दर्द

जब भी बच्चों की आंखों में दर्द होने के साथ-साथ आंखों में चुभन जैसा महसूस हो और आंखों से पानी आने लगे और ये लक्षण लगातार नजर आए तो समझ ले कि आपके शिशु की आंखें कमजोर हो गई हैं|

#4. एक आंख बंद करके देखना

यदि आपका बच्चा टीवी या कोई और तेज़ रोशनी वाली चीज देखते समय एक आंख बंद करता हैं तो उसकी आंख कमजोर हो गई हैं|

#5. तेज रोशनी में पलकें झुकाना

यदि आपके बच्चे को तेज रोशनी से परेशानी हैं या फिर वह तेज रोशनी में बार-बार अपनी पलके झपकाता हैं या वह तेज रोशनी से कम रोशनी में आते समय उसे थोड़ा-थोड़ा धुंधलापन दिखाई देने लगे तो ये सब लक्षण आँखे कमजोर होने का इशारा करते हैं|

#6. नजदीक से देखना

यदि आपके बच्चे को दूर से कोई चीज़ साफ नजर नहीं आ रही हो और उसे देखने के लिए वह उसके करीब जाए और उसे ध्यान से देखें तो यह कमजोर आँख होने का संकेत हैं|

#7. आई बॉल की गति

हालांकि इस लक्षण को पहचानना आपके लिए थोड़ा सा मुश्किल हो सकता हैं परंतु यदि आप बात करते समय अपने बच्चे की आंखों को गौर से देखें और अगर आपको आई बॉल की गति में कुछ भी फर्क नजर आए तो आप तुरंत अपने बच्चे की आँखों का चेकअप करवाए|

इसे भी पढ़ें: बच्चों को गाय का दूध देने के 10 फायदे

#8. आंखों के आगे अंधेरा छाना

जब आपका बच्चा पढ़ते समय या टीवी देखते समय बार-बार आंखे बंद करके सिर को घुमाता हैं| वह ऐसा इसलिए करता है क्योंकि उसकी आंखों में अंधेरा छा जाता हैं और वह इससे बचने के लिए ऐसा करता हैं जो कि आंख कमजोर होने का एक मुख्य कारण हैं|

#9. आंखों का तिरछापन

कई बार बच्चे मजाक-मजाक में नजरे तिरछी कर लेते हैं और अगर यही चीज़ आदत बन जाए तो इससे उनकी आँखों पर काफी असर होता हैं| इसलिये माता-पिता को बच्चों की इस हरकत पर ध्यान देना चाहिए|

इसे भी पढ़ें: बच्चो में खून की कमी को दूर करने के 10 आहार

#10. आंखें लाल होना

कई बार नींद पूरी ना होने के कारण और नेत्रश्लेष्मला शोध के कारण भी आंख लाल हो जाती है परंतु यदि आंखें लाल होने के यह दोनों कारण नही हैं और फिर भी बच्चे की आंखे लाल हो जाती हैं और उनमें रगड़ने जैसा कुछ लगता हैं या खुजली आती हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए|

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null