5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

बच्चों को अच्छी आदतें सिखाना हर माता-पिता की प्राथमिक जिम्मेदारी होनी चाहिए। बच्चों को बचपन से ही अगर अच्छी आदतें सीखाई जाएं तो वह उनके लिए जीवन भर काम देती हैं। अच्छी आदतें ना सिर्फ बच्चों को एक अच्छा इंसान बनाती हैं बल्कि वह उन्हें अनुशासन का सबक भी सिखाती हैं। एक और अहम बात केवल बच्चों को ही यह अच्छी आदतें ना सिखाएं बल्कि इनका खुद भी पालन करें। अगर आप बच्चों के सामने इन अच्छी आदतों और व्यवहार को नहीं दर्शाएंगे तो कोई औचित्य नहीं है कि वह आपके सामने इन आदतों का अनुसरण करें। आइयें जानतें हैं ऐसी कौन सी प्रमुख अच्छी आदतें (Achhi Aadat) हैं जो आपको बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए।

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

जल्दी उठना

अगर बच्चों को जल्दी उठना शुरू से नहीं सिखाएंगे तो स्कूल के दिनों में यह बड़ी समस्या बन सकती है। जल्दी उठना बच्चों को भविष्य में कामयाब होने की दिशा में काफी महत्व रखता है। आप खुद भी सुबह जल्दी उठकर बच्चों के सामने आदर्श स्थापित करें।

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

दूसरों के साथ प्रेम से पेश आना

बच्चों को दूसरों के साथ प्रेम से पेश आना सिखाएं खासकर गरीबों और जानवरों के प्रति। यह उनके भविष्य की नींव रखने में बहुत मदद करता है।

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

बड़ों का सम्मान करें

बड़ों का सम्मान करना बच्चों को भविष्य में अच्छा आदमी बनाने की दिशा में आपका पहला कदम होना चाहिए। बच्चे को बड़ों को नमस्कार करना और उनसे ऊंची आवाज में बात ना करना अवश्य सिखाएं। बड़ों का सम्मान करना सिखाने से पहले खुद भी बच्चों के सामने अपने बड़ों की इज्जत करें।

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

समय पर खाना खिलाएं

अगर बच्चों के खाने का टाइम टेबल सेट नहीं होगा तो उसे पूरा पोषण नहीं मिलेगा। यह जंक फूड के प्रति उनका आकर्षण भी बढ़ा सकता है। समय पर खाना खिलाना स्कूल के दिनों में और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है। अगर बच्चों के खाना खाने का समय पहले से निर्धारित हो तो उनका वजन भी हमेशा नियंत्रित रहता है।

5 अच्छी आदतें जो बच्चों को अवश्य सिखानी चाहिए

हाथ धोना

अच्छी सेहत और बीमारियों से दूर रखने के लिए बच्चों को खाना खाने से पहले, खाने के बाद, और वॉशरूम के बाद हाथ धोना बच्चों को जरूर सिखाएं। हाथ धोना बच्चों को कई बीमारियों से बचाने के साथ उनके शिष्टाचार के लिए भी आवश्यक होता है। बच्चों के शिष्टाचार (bachchon ke shishtachar) में यह सबसे अहम होता है।