एक साल के बच्चे के लिए फूड चार्ट

एक साल के बच्चे के लिए फूड चार्ट

12 माह या एक साल के बच्चे के दांत निकलना शुरु हो जाते हैं। इस समय बच्चे का विकास भी बहुत तेजी से होता है। वह धीरे-धीरे चलना शुरु करता है। इस समय बच्चे को अतिरिक्त पोषण की आवश्यकता होती है। इसलिए इस समय बच्चे का आहार चार्ट बनाते समय ध्यान रखें कि उसमें सभी पोषक तत्व भरपूर मात्रा में हों। एक साल के बच्चे का फूड चार्ट या आहार चार्ट (1 year baby food chart in hindi) कैसा होना चाहिए इसका एक उदाहरण निम्न दिया गया है। ध्यान रखे कि बच्चों का यह डाइट चार्ट केवल एक उदाहरण है।

 

एक साल के बच्चे के लिए सैंपल फूड चार्ट (1 Year Baby Food Chart in Hindi)

सात दिन का ब्रेकफास्ट (Breakfast for 1 Year Old Kids)

ब्रेकफास्ट ऐसा हो जो बच्चे को ताकत दे और आसानी से खाया जा सके। नाश्ते में पोहा, डोसा, बेसन का चीला, आमलेट, हलवा या परांठा रख सकते हैं। सात दिन तक अगर आपको अपने बच्चे को अलग-अलग नाश्ता देना है तो उसके लिए कुछ व्यंज्न निम्न हैंः

  • पहले दिन दूध के साथ ओट्स या कॉर्नफ्लेक्स
  • अगले दिन मीठा या नमकीन दलिया
  • तीसरे दिन वेज पोहा के साथ दूध
  • चौथे दिन मिक्स वेज, गोभी, आलू-प्याज या पनीर का पतला परांठा दही या दाल के साथ
  • पांचवे दिन अंडे का आमलेट और ब्राउन ब्रेड या पनीर की भूजिया पतली रोटी के साथ
  • छठे दिन 12 महीने के बच्चे को बेसन का चीला या रागी का डोसा दें
  • सातवें दिन शकरकंद की खीर या सूजी का हलवा दे सकते हैं।

12 महीने के बच्चों के लिए लंच (Lunch Ideas for 1 Year Olds Kid in Hindi)

बच्चों को लंच के समय भी भरपूर आहार देना चाहिए ताकि वह दिन से लेकर शाम तक खूब मस्ती कर सकें। एक साल के बच्चों के लिए लंच में कुछ ऐसा भी दे सकती हैं जिसे खाने में वह आना-कानी करें क्योंकि इस समय आपके पास काफी समय होता है उसे बहलाकर खिलाने का। दही गुड बैक्टीरिया और कैल्शियम का मुख्य स्त्रोत होता है। दिन का समय दही खिलाने के लिए सबसे बेहतर होता है। आइयें जानें कि 12 माह के बच्चे को लंच में आप क्या-क्या दे सकती हैंः

  • पहले दिन आप बच्चे को दही, रोटी और सोया ग्रेन्यूल्स दे सकते हैं
  • दूसरे दिन फूलगोभी की सब्जी, रोटी, दाल और सलाद
  • अगले दिन दही-चावल और रसम या फिर वेज पुलाव और दही दे सकते हैं
  • चौथे दिन दाल, चावल और कोई हरी सब्जी दें
  • पांचवे दिन वेज पुलाव या वेज खिचड़ी दे सकते हैं
  • छठे दिन नॉन वेज जैसे अंडा करी और चावल, लाइट चिकन करी के साथ चावल या रोटी दे सकते हैं।
  • सातवें दिन पनीर की भूजिया, दाल और रोटी या फिर सोयाबिन की सब्जी के साथ रोटी।

ध्यान दें कि एक साल के बच्चे के लगभग सभी दांत नहीं आए होते हैं इसलिए उनके लिए हमेशा नरम रोटियां ही बनाएं जिसे वह आसानी से खा सके। कई बच्चों के दांत ही बारह महीने में आना शुरु होते हैं ऐसे बच्चों को चावल या रोटी अच्छे से मैश करके दें। आप चाहे तो इनके लंच को बेबीफूड के साथ भी स्वैप कर सकते हैं। पालक के कोफते, किनोवो की खिचड़ी या रागी से बने स्वादिष्ठ व्यंजन भी आप अपने बच्चों को दे सकती हैं।

 

Read: प्रोटीन चार्ट 6 माह से 3 वर्ष के बच्चो के लिए

डिनर पर दें ध्यान (12 Month old Kids Dinner Idea)

एक साल के बच्चे अक्सर रात को जल्दी सो जाते हैं या फिर कई बार काफी देर तक जगते हैं। ऐसे में बच्चों के लिए डिनर का समय फिक्स करना थोड़ा मुश्किल होता है। रात को ऐसा भोजन ना दें जो पचने में अधिक समय लगाए। चिकन, दही आदि देने से बचना चाहिए। आइयें एक नजर डालते हैं कि 12 महीने के बच्चों का डिनर कैसा होना चाहिएः

पहले दिन रात को सूजी टोस्ट या कद्दू की खिचड़ी
दूसरे दिन सांभर डोसा या चिकन सूप के साथ ब्रेड
अगले दिन रात को बाजरे का उपमा या वेज पेनकेक
चौथे दिन एक पतला आलू का परांठा बटर के साथ
पांचवे दिन बच्चे को चिकन सूप के साथ ब्रेड या मूंग के दाल की खिचड़ी
छठे दिन अंडा करी-चावल या फिर सिंपल दाल-चावल
सातवें दिन आप पालक पनीर, घिया की सब्जी के साथ रोटी दे सकते हैं।

Read: कैल्शियम चार्ट 6 माह से 3 साल तक के बच्चो के लिए

 

12 महीने के बच्चों को कितनी बार खिलाएं (Feeding Time for 12 Month Old Baby)

12 महीने के बच्चों का डाइट प्लान (Baby Food Chart in Hindi) बनाते समय ध्यान रखें कि दिनभर में कम से कम तीन बार मां का दूध या फॉर्म्यूला मिल्क देने का स्पेस हो। जिसे धीरे-धीरे कम करके आप दो बार कर सकती हैं लेकिन कम से कम दो बार बच्चे को दूध अवश्य पिलाना चाहिए। इसके अलावा दो बार स्नैक्स या लाइट मील देना चाहिए और तीन बार खाना। कुल मिलाकर बच्चे को कम से कम पांच बार ठोस आहार और दो से तीन बार दूध पिलाना चाहिए। अगर आपको लगे कि बच्चा ठोस आहार नहीं ले रहा है तो आप दो बार के ठोस आहार को अमूमन ब्रेकफास्ट और लंच के बीच में और लंच और डिनर के बीच के खाने को बेबीफूड, स्मूदी, शेक, जूस आदि से बदल सकती हैं।

 

क्या आप एक माँ के रूप में अन्य माताओं से शब्दों या तस्वीरों के माध्यम से अपने अनुभव बांटना चाहती हैं? अगर हाँ, तो माताओं के संयुक्त संगठन का हिस्सा बने| यहाँ क्लिक करें और हम आपसे संपर्क करेंगे|

null

null